मध्यप्रदेश में एक बार फिर लोट आई कड़ाके की ठंड, किसानों को हुआ बड़ा नुकसान कही जगह गिरा पाला


MP Weather; मध्यप्रदेश में एक बार फिर से कड़ाके की ठंड का दौर शुरू हो गया है । जहां दो दिन पहले लोगों को ठंड से राहत मिलती दिखाई दे रही थी , वही मकर संक्रांति के बाद एक बार फिर सर्दी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। पहाड़ों पर लगातार हो रही बर्फबारी के चलते मैदानी इलाकों में भीषण ठंड पड़ रही है। ओर इसका असर अब मध्यप्रदेश में भी दिखने लगा है, उत्तरी बर्फीली हवाओं के चलते यहां कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। और साथ ही मौसम विभाग के अनुसार आने वाले 24 घंटों में तीव्र शीतलहर चलने का अनुमान है। वहीं, आज 24 जिलों का न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से भी नीचे चला गया है। करीब डेढ़ दशक बाद मकर सक्रांति या कहें कि 15 जनवरी के बाद ऐसी ठंड देखने को मिली है।रात का तापमान गिरकर पांच डिग्री पर पहुंच गया, जिसके चलते रविवार की रात को मौसम की सबसे सर्द रातों में दर्ज किया गया है ।

तापमान में लगातार गिरावट के चलते इसका असर फसलों पर भी देखने को मिल रहा है कई फसलों पर बर्फ जमने लगी है, तो जिसके चलते नुकसान होने की आशंका बढ़ गई है। और ठंड के चलते कई पाइप लाइन के अंदर पानी बर्फ में परिवर्तन होकर जम रहा है। किसानों की धनिया , चीरू, चना, अफीम कई फसलों पर पाले का असर दिखाई दे रहा है।

आने वाले 2 दिनों तक ऐसी ही पड़ेगी कड़ाके की ठंड


मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला के द्वारा बताया गया राज्य में 18 जनवरी तक ऐसी ही भीषण ठंड लोगों को झेलनी पड़ सकती है। अगले 24 घंटों में प्रदेश के 15 जिलों में तीव्र शीतलहर लहर चलने का अनुमान है। उत्तर के पहाड़ी इलाकों में पश्चिमी विक्षोम की सक्रियता के चलते हो रही तेज बर्फवारी का असर प्रदेश के कई हिस्सों में देखने को मिल रहा है। करीब डेढ़ दशक बाद पड़ी भीषण ठंड के चलते रविवार रात व सोमवार दिन में उमरिया, रतलाम, मंदसौर, रायसेन, राजगढ़, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी, ग्वालियर और दतिया जिलों में शीतलहर का प्रभाव देखने को मिला है।

आइए जानते हैं राज्य के बड़े शहरों में कितना रहा तापमान




ग्वालियर ,दतिया और नौगांव में सबसे ज्यादा तापमान गिरता हुआ दिखाई दे रहा है । राज्य के बड़े शहरों में ठंड का हाल (तापमान डिग्री सेल्सियस में) न्यूनतम तापमान भोपाल – 7 इंदौर – 8.8 छिंदवाड़ा- 9 दमोह-6.0 जबलपुर- 7.0 खजुराहो- 3.5 मंडला- 8.6 नौगांव- 2.6 रीवा – 4.6 सागर -6.0 सतना – 6.1 सीधी- 7.6 जबलपुर – 7 ग्वालियर – 2.5 मन्दसौर – 5 रतलाम -6 सागर और रीवा में एकदम से गिरा पारा गिरता दिखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *