Mandsaur Today news:- मंदसौर में संजीत रोड ओवरब्रिज निर्माण में लापरवाही बरतने के कारण उज्जैन कार्यपालन यंत्री ने संजीत रोड़ ब्रिज का अनुबंध रद्द कर दिया है। इसके चलते ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड करने की कार्यवाही की जा रही है। ठेकेदार दिनेश चंद्र अग्रवाल द्वारा भोपाल सुप्रिडेंट इंजीनियर के समक्ष अपील की गई है। ठेकेदार पर डेढ़ सप्ताह के अंदर कार्यवाही की जाएगी और संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर ब्लेक लिस्टेड कर दिया जाएगा। कार्यवाही होने के बाद ठेकेदार मध्यप्रदेश सरकार शासन के किसी भी विभाग में किसी भी प्रकार का टेंडर नहीं ले पाएगा। इसके बाद विभाग द्वारा दोबारा टेंडर की पकिया की जाएगी।

Mandsaur Today news:- मंदसौर शहर की मुख्य सड़क संजीत रोड़ पर मध्यप्रदेश सरकार द्वारा 5 साल पहले ओवरब्रिज स्वीकृत कीया गया था और इसके साथ ही ठेकेदार को मुक्ति धाम के पास नवीन बिज के लिए भी टेंडर दिया गया था। ठेकेदार दिनेश चंद्र अग्रवाल को सरकार द्वारा वर्ष 2018 में वर्क आर्डर जारी किया गया था जिसे दिसंबर 2020 तक पूरा करना था लेकिन अक्टूबर 2022 आने के बाद भी ओवरब्रिज का कार्य अधूरा ही पड़ा है। हालांकि बीच में कोरोना संक्रमण के कारण चार-पांच महिने ओवरब्रिज का काम बंद रहा था। ठेकेदार द्वारा शुरूआत से ही ब्रिज निर्माण में कछुआ कार्य किया जा रहा है। कोरोना के चलते ठेकेदार को 2021 तक का समय दिया गया था लेकिन इसके बावजूद भी ठेकेदार ने और ब्रिज का कार्य पूरा नहीं किया। इसके बाद अब उज्जैन कार्यपालन यंत्री ने ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करने की पेशकश की है। एक ब्रिज के कारण हजारों लोगों को रोजाना परेशान होना पड़ रहा है लेकिन लापरवाह ठेकेदार ने अभी तक कार्य पूरा नहीं किया है। जल्द ही ठेकेदार पर कार्रवाई करते हुए टेंडर दोबारा दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *