झारखंड के गिरिडीह जिले की पुलिस ने ग्रामीण इलाकों की लड़कियों को राजस्थान और मध्य प्रदेश सहित कई इलाकों में बेचने वाले गिरोह के एक दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से एक नाबालिग लड़की को भी बरामद किया है। उसे बाहर ले जाकर बेचने की तैयारी की जा रही थी। पुलिस ने जिस गिरोह का खुलासा किया है, उसमें बिहार, राजस्थान और मध्य प्रदेश के लोग शामिल हैं। गिरिडीह के एएसपी हरीश बिन जमां ने बताया कि जिले के पचंबा थाना क्षेत्र के नारोबाद गांव से तीन माह पहले एक नाबालिग लड़की का अपहरण किया गया था। मामले की जांच के दौरान पुलिस एक संगठित गिरोह तक पहुंची। इस मामले में शुरूआती जांच में जिले के बेंगाबाद की मीना देवी की संलिप्तता सामने आई। पुलिस को पता चला कि मीना देवी अपने एक सहयोगी गया की ललिता कुमारी और शंकर चौधरी के साथ मिलकर लड़की को राजस्थान में बेचने की योजना बना रहे हैं। इसपर पचंबा पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी कर इस पूरे रैकेट से जुड़े एक दर्जन लोगों को पकड़ा। पुलिस के मुताबिक इस गिरोह ने इलाके की कई लड़कियों को शादी के नाम पर देश के अलग-अलग हिस्सों में बेचा है। जेल भेजे अपराधियों को रिमांड पर लेकर आगे पूछताछ की जायेगी।

गिरफ्तार किये गये लोगों में गया के सैदपुर निवासी भोला कुमार दास, गिरिडीह के गांवा थाना क्षेत्र के बादीडीह गांव निवासी गोविंद साहू, गिरिडीह जिले की मीना देवी और ललिता कुमारी, गया के बेलागंज निवासी शंकर चौधरी, मध्य प्रदेश का नीमच निवासी संदीप शर्मा, राजू शर्मा, हेमंत शर्मा, मुकेश गुर्जर और राजस्थान के उदयपुर निवासी दलिचंद शर्मा, दिनेश शर्मा शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *