मध्यप्रदेश बिजली न्यूज़: त्योहार से पहले बिजली विभाग द्वारा बिजली मेंटेनेंस का कार्य शुरू कर दिया गया। पोस्ट मेंटेनेंस के नाम पर बिजली कंपनी द्वारा 12 अक्टूबर से फिर बिजली कटौती शुरू की गई है। बिजली विभाग के अनुसार यह मेंटेनेंस 2 नवंबर तक चलेगा। इसके चलते बिजली विभाग द्वारा जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में 23 दिनों तक सुबह 8:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक बिजली बंद रखी जाएगी। प्रतिवर्ष बिजली विभाग द्वारा मेंटेनेंस का कार्य सितंबर माह में शुरू कर दिया जाता है लेकिन ईश्वर से जिम्मेदार देरी से सतर्क हुए हैं और अक्टूबर माह में मेंटेनेंस का कार्य शुरू कर रहे हैं।

मध्यप्रदेश बिजली न्यूज़: अधिकारियों का दावा है कि लंबे समय से बारिश और पंडित प्रदीप जी मिश्रा की कथा के चलते मेंटेनेंस का कार्य शुरू नहीं हो पाया था। गर्मी के समय में प्री मेंटेनेंस का कार्य किया गया था लेकिन उसका असर ज्यादा नहीं दिखा। शहर के लोगों को पहली बारिश में ही फाल्ट और अन्य तकनीकी के कारणों के चलते परेशान होना पड़ता है। इसके बाद अब पोस्ट मेंटेनेंस के नाम पर सुबह 4 घंटे बिजली कटौती की जाएगी। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि दीवाली के पर्व पर बिजली कटौती पर रोक लगाई जाएगी और दिवाली के बाद दोबारा मेंटेनेंस का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। 2 नवंबर तक 250 कर्मचारी मेंटेनेंस का कार्य करेंगे।

मेंटेनेंस के बाद भी होती है परेशानी

मध्यप्रदेश न्यूज़: मेंटेनेंस के बाद भी जिले में हर बार बिजली की समस्या सामने आती हैं। पिछले वर्ष इसी सीजन में युवक कांग्रेस ने बिजली कटौती के कारण हो रही परेशानी के चलते आंदोलन भी किया था। आंदोलन करते हुए युवा कांग्रेस द्वारा बिजली कंपनी को घेरा गया था लेकिन आंदोलनकारियों को अनुमति नहीं मिली थी और उन पर कार्यवाही भी की गई थी। ऐसी स्थिति में आशंका है कि रबी फसल की सीजन में भी बिजली कटौती के चलते किसानों को सिंचाई में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा आम लोगों के कामकाज भी प्रभावित होंगे और गृहिणीयो को भी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। नवरात्रि पर्व के दौरान भी कई समय तक बिजली बंद होने से लोगों को परेशानी हुई थी।कार्यपालीन यंत्री प्रेम पालीवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि इस बार प्रयास किए जाएंगे कि लोगों को किसी भी प्रकार की समस्या नहीं हो और दीपावली पर्व के दौरान मेंटेनेंस का कार्य बंद रखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *