मध्यप्रदेश न्यूज़: आज की दुनिया में डाक्टर को दूसरा भगवान माना जाता है। डाक्टर को भगवान इसलिए माना जाता है कि वह मरीजों की बिमारियों को सही कर उन्हें नई जिंदगी प्रदान करते हैं, लेकिन डॉक्टर के भेष में कुछ ऐसे दरिंदे भी देश में मौजूद हैं जो इस पेशे को बदनाम कर रहे हैं। एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें डाक्टर और असिस्टेंट ने मिलकर महिला मरीज को कभी नहीं भूलने वाला दर्द दिया है। मामला यह है कि डॉक्टर और उसके असिस्टेंट ने मिलकर महिला के साथ दुष्कर्म कर लिया।

मंदसौर: कुएं में मिला युवक के शव का आधा हिस्सा, प्यार के बदले मिली मौत,शव के एक और हिस्से की तलाश जारी

मध्यप्रदेश न्यूज़: प्रदेश के ग्वालियर की श्री राम कालोनी में एक डॉक्टर और उसके असिस्टेंट द्वारा इलाज कराने आई एक 40 साल की महिला के साथ रेप करने का मामला सामने आया है। डाक्टर और असिस्टेंट ने मिलकर मरीज महिला के साथ दुष्कर्म करने की वारदात को अंजाम दिया। जानकारी में बताया गया है कि महिला जाया आरोग्य हॉस्पिटल स्थित माधव डिस्पेंसरी में दिखाने गई थी। यहां से मामले का आरोपी असिस्टेंट महिला को डाक्टर के पास ले गया था। आरोपी डॉक्टर का नाम पथ्वीराज गोस्वामी और असिस्टेंट का नाम राजू पंडित बताया जा रहा है। चौंका देने वाली बात तो यह है कि बहोड़ापुर रहने वाली पीड़िता महिला ने बताया कि आरोपी डॉक्टर ने चूप रहने के लिए थाने में ही 3 लाख रुपए दिए थे। इसके साथ ही किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी।

पीड़िता के मुंह से सुनिए उसकी आपबीती

मध्यप्रदेश न्यूज़:- पीड़िता ने कहा कि -” मुझे कुछ दिनों से चक्कर आ रहें थे और सिर चकरा रहा था। यह बताने के लिए मैं माधव डिस्पेंसरी गई थी। वहां काफी भीड़ लगी हुई थी लेकिन इस दौरान एक युवक आया जिसने अपना नाम राजू पंडित बताया और कहा कि आपकी तबीयत ज्यादा ख़राब लग रहीं हैं। मैंने हां कर दिया तो उसने मुझे अच्छे डॉक्टर पर ले जाने की बात कही। राजू पंडित ने डाक्टर पथ्वीराज गोस्वामी को दिखाने की कहा। उसकी बातों में आकर में डाक्टर पथ्वीराज गोस्वामी को बताने के लिए श्री राम कालोनी चली गई। वहां पर डाक्टर अकेला था। मैंने डाक्टर को परेशानी बताई तो वह मेरा चेकअप करने लगा और राजू बाहर चला गया। थोड़ी देर बाद राजू अंदर आया और मुझे पलंग पर धक्का दे दिया। डाक्टर ने मेरे पैर पकड़ लिए और राजू ने मेरे साथ गलत काम किया। इसके बाद डॉक्टर ने मेरे साथ गलत हरकत की और इस दौरान किसी ने गेट खटखटाया तो दोनों ने मुझे भगा दिया।

इसके बाद मैंने तुरंत 100 नंबर डायल कर पुलिस को फोन लगाया। इसके बाद डाक्टर और असिस्टेंट को झांसी रोड़ थाने बुलाया गया लेकिन थाने में आरोपी डॉक्टर द्वारा मुझे चूप रहने के लिए 3 लाख रुपए दे दिए गए। इसके अलावा डाक्टर और असिस्टेंट ने मामला किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी। इस दौरान आरोपी के परिजन आ गए तो उन्हें पैसे वापस कर दिए। इस दौरान जब मैं अगले दिन SSP के पास पहुंची तब जाकर आरोपियों पर केस दर्ज किया गया।

मामले में पुलिस ने क्या कहा

मध्यप्रदेश न्यूज़: मामले में ASP क्राइम राजेश दंडोतिया ने जानकारी देते हुए बताया कि सूचना मिलने के बाद आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर आरोपियों की तलाश कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *