Crime News: झारखंड में डायन हत्या और प्रताड़ना की घटनाएं थम नहीं रही हैं। मंगलवार को रांची जिले के तमाड़ क्षेत्र अंतर्गत बारेडीह गांव में एक 55 वर्षीय महिला को डायन करार देकर उसके अपने ही भतीजे ने धारदार हथियार से काट डाला। आरोपी जय स्वांसी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके पहले बीते चार सितंबर को रांची जिले के ही सोनाहातू में ग्रामीणों ने तीन महिलाओं को डायन बताते हुए पीट-पीटकर मार डाला था। 24 सितंबर को दुमका जिले में तीन महिलाओं सहित चार लोगों को इसी तरह के संदेह में बुरी तरह पीटा गया था और उन्हें मल-मूत्र पीने को मजबूर किया गया था।

Crime News: मंगलवार को तमाड़ थाना क्षेत्र अंतर्गत बारेडीह गांव में हुई वारदात के बारे में बताया गया कि पूरन स्वांसी की 55 वषीर्या पत्नी सरला देवी सुबह अपने खेत में गोबर फेंकने के लिए गई थी, तो वहां घात लगाये बैठे उसके भतीजे जयदेव स्वांसी ने धारदार हथियार से उसपर हमला कर दिया। मौके पर ही महिला ने दम तोड़ दिया। महिला के पति पूरन स्वांसी उसे बचाने के लिए आगे आये तो भतीजे ने उनपर भी हमला किया। उन्होंने खुद को बचाते हुए शोर मचाया। वारदात की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी भतीजे को गिरफ्तार कर लिया है।

Crime News: हालांकि पुलिस का कहना है कि हत्या की वजह डायन अंधविश्वास के बजाय आपसी विवाद हो सकता है। बुंडू डीएसपी अजय कुमार ने बताया कि पुलिस की जांच में यह बात भी सामने आई है कि दोनों परिवारों के बीच अक्सर लड़ाई झगड़ा हुआ करता था।इधर दुमका में बीते शनिवार को तीन महिलाओं सहित चार लोगों को मल-मूत्र पिलाने के मामले में सभी छह आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *