मध्यप्रदेश न्यूज़: मथुरी के उफनते नाले की रपट को बाइक से पार करते समय दिलीप नगर निवासी दंपती बह गए। इसमें पति तो 500 मीटर दूरी पर जाकर तैरकर बाहर निकल आया लेकिन पत्नी नहीं मिली। उसकी साड़ी मौके से दो किमी दूर सिमलापाड़ा की पुलिया के यहां मिली। घटना गुरुवार रात 11 बजे की है।

मध्यप्रदेश न्यूज़: दिलीप नगर रतलाम निवासी राधेश्याम पिता शंभू डावर (45) पत्नी सीताबाई उर्फ पांचूबाई (40) के साथ शुक्रवार सुबह रिश्तेदारी में घोड़ाखेड़ा गांव गया था। वहां से वह बाइक लेकर पत्नी के साथ रात 10.30 बजे निकला। रास्ते में मथुरी के यहां नाले पर बनी छह फीट ऊंची पुलिया पर पानी बह रहा था। इस पर से निकलने के दौरान संतुलन बिगड़ने से डामर दंपती बाइक सहित नाले में बह गए। राधेश्याम तो 500 मीटर दूरी पर तैरकर नाले से निकल आया लेकिन सीताबाई नहीं मिली। सुबह 6 बजे एसडीआरएफ प्लाटून कमांडर बद्री मंडलोई के नेतृत्व में रेस्क्यू शुरू किया। दोपहर में मौके से 100 मीटर दूर इनकी बाइक मिली वहीं दो किमी दूर सिमलापाड़ा की पुलिया के पास सीताबाई की साड़ी मिली। शाम 6 बजे तक रेस्क्यू चलाया गया, अब महिला की तलाश रविवार सुबह फिर से की जाएगी।

रिश्तेदारी में पार्टी कर लौट रहे थे दंपती, रपट का पानी नहीं दिखा

मध्यप्रदेश न्यूज़: डीडी नगर थाना एएसआई मुरली मकवाना ने बताया कि डावर दंपती रिश्तेदारी में घोड़ाखेड़ा गए थे और वहां से पार्टी कर लौट रहे थे। राधेश्याम ने कुछ समय पहले 6 लाख रुपए में पांच बीघा जमीन बेची है। इसके बाद से उसने मजदूरी बंद कर दी है। उसकी एक बेटी है जिसकी शादी हो चुकी है। राधेश्याम ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि बाइक में लाइट डिम होने से वह ठीक से देख नहीं पाया कि रपट पर कितना पानी है और गाड़ी पानी में उतारने के बाद कुछ दूरी पर संतुलन बिगड़ने से वह बाइक सहित बह गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *