श्री शिव महापुराण कथा मंदसौर: मंदसौर में सीहोर वाले पं. प्रदीप मिश्रा के मुखारविंद से पशुपतिनाथ शिव महापुराण कथा 26 सितंबर से मंदसौर के पीजी कॉलेज ग्राउंड में होगी। इस दौरान बड़ी संख्या में कथा श्रवण करने के लिए आसपास जिले व राजस्थान से श्रद्धालु आएंगे। इनके लिए ग्राउंड में 3 डोम तैयार किए हैं। प्रवेश और निकासी के लिए समिति ने परिसर के चारों तरफ 9 गेट तैयार किए हैं। आयोजन सारी व्यवस्था पूरी कर ली गई है । ग्राउंड में 3.20 लाख वर्गफीट पंडाल तैयार किया गया है। इसमें 2 लाख व्यक्ति बैठ पाएंगे । आयोजन समिति संयोजक चेनराम जैन ने बताया सोमवार को शुरू हो रही शिव माह पुराण कथा के लिए सारी तैयारियां की जा चुकी है । 3.20 लाख वर्गफीट में तीन डोम तैयार किए गए हैं। इसमे इसमे डेढ़ स 2 लाख श्रद्धालु बैठ सकते हैं। इसके साथ ही आसपास टेंट भी लगाए जा रहे हैं।

शहर की धर्मशालाए और रिसॉर्ट्स में होगी ठहरने व्यवस्था

श्री शिव महापुराण कथा मंदसौर: आयोजन प्रभारी चेनराम जैन ने बताया कि शहर की धर्मशालाए और रिसोर्ट को बुक किया गया है। कथा श्रवण के लिए बाहर से आए श्रद्धालुओ के लिए ठहरने और भोजन प्रसादी की व्यवस्था की गई है। आयोजन स्थल के निकट मैदान में चलित शौचालय और स्नानघर तैनात किए है।

ग्राउंड में डॉक्टर एम्बुलेंस और पुलिस रहेंगे मोजूद

श्री शिव महापुराण कथा मंदसौर:जैन के अनुसार आयोजन स्थल पर स्वास्थ्य केंद्र बनाया है। इसके साथ ही स्थल पर तीन एम्बुलेंस तैनात रहेंगी। वहीं कथा स्थल पर अलग अलग चौकियां बनाई गई हैं। जहां सेवा भारती कार्यालय, पुलिस सहायता केंद्र, स्वास्थ्य केंद्र रहंगे। किसी भी समस्या के लिए इन केंद्रों पर संपर्क किया जा सकता है।

कथा स्थल तक आने के लिए निःशुल्क मिलेंगे वाहन

 श्री शिव महापुराण कथा मंदसौर: सेवा भारती ने कथा में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए हर तरह की व्यवस्था जुटाई है। पार्किंग स्थल से कथा स्थल तक ई-ऑटो निशुल्क मिलेंगे। वहीं शहर में मुख्य चौराहों से भी निशुल्क वाहन मिलेंगे। कथा के दौरान शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में भी बदलाव किया गया है।

सेवा भारती के कार्यकर्ता संभालेंगे व्यवस्था, अलग-अलग टोलियां बनाई

श्री शिव महापुराण कथा मंदसौर: शिव महापुराण कथा के दौरान पार्किंग व्यवस्था से लेकर पांडाल में महिला पुरुषों के बैठने और अन्य व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी सेवा भारती के कार्यकर्ताओं को दी गई है। इसके लिए महिला पुरुषों की अलग-अलग टोलियां बनाकर उन्हें जिम्मेदारी सौंपी गई है। कथा श्रवण के लिए आने वाले किसी भी श्रद्धालुओं को परेशानी ना हो, इसके लिए हर तरह की व्यवस्था जुटाई गई है।

यहां करे वाहनों की पार्किंग

1.संजीत मार्ग से आने वाले वाहनों के लिए- जग्गाखेड़ी से कृषि उपज मंडी मार्ग तथा मंडी के गेट नंबर 2 से बाया टर्न लेकर एलआईसी ऑफिस के पास ट्रांसपोर्ट नगर मैदान में वाहन पार्क होंगे । श्रोतागण पार्किंग के बाद पैदल एसपी कार्यालय के सामने से होते हुए कथा स्थल कॉलेज ग्राउंड तक पहुंचेंगे।

2. नीमच, पिपलिया मंडी मार्ग से आने वाले वाहनों के लिए- गुराडिया बाईपास तिराहे से शहर की तरफ आएंगे तथा भुनियाखेड़ी ग्राम तिराहे के पास वाहन खड़े करके, पैदल अथवा ऑटो रिक्शा द्वारा कथा स्थल कॉलेज मैदान तक पहुंचेंगे।

3. प्रतापगढ़, रतलाम, मार्ग से आने वाले वाहनों के लिए- 10 नंबर नाका बायपास पर बाया टर्न लेंगे तथा एमआईटी चौराहे से कलेक्ट्रेट मार्ग पर स्थित चार पहिया पार्किंग निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज, दो पहिया वाहन पार्किंग हॉकी टर्फ मैदान के पास, नक्षत्र गार्डन के पास दो पहिया तथा चार पहिया वाहन पार्किंग पर वाहन पार्क करेंगे तथा पैदल यश नगर पुलिया से दाया टर्न लेकर कथा स्थल कॉलेज ग्राउंड तक पहुंचेगे।

4. सीतामऊ सुवासरा गरोठ मार्ग से आने वाले वाहनों के लिए- श्रोतागण लाभ मुनि नेत्र चिकित्सालय से सीतामऊ फाटक नया ओवरब्रिज पर नयाखेड़ा की ओर बाया टर्न लेकर हाईवे बाईपास पर चलते हुए एमआईटी चौराहा पहुंचेंगे।

आयोजन के दौरान ऐसी रहेगी शहर की यातायात व्यवस्था

1. श्रीकोल्ड तिराहे से जैन कॉलेज, डाइट तक का मार्ग सभी प्रकार के वाहनों के लिए पूर्णतया बंद रहेगा।

2. दो पहिया तथा छोटे चार पहिया वाहन श्रीकोल्ड से जैन कॉलेज डाइट तक किटियानी होते हुए आ जा सकेंगे।

3. बसें और छोटे लोडिंग वाहन रामटेकरी तिराहे से MIT बाईपास होते हुए आ जा सकेंगे।

4. नीमच मार्ग पर स्थित गुराडिया बायपास तिराहा से बसों तथा अन्य भारी वाहनों का प्रवेश शहर की ओर बंद रहेगा।

5. सुशासन भवन कलेक्ट्रेट मार्ग ऑटो रिक्शा और ई-रिक्शा, प्राइवेट टू व्हीलर, फोर व्हीलर के अतिरिक्त अन्य सभी प्रकार के वाहनों के लिए प्रतिबंधित रहेगा। उक्त मार्ग पर ऑटो रिक्शा का प्रवेश पैदल आने जाने वाले श्रोतागण की संख्या को देखते हुए कभी भी प्रतिबंधित किया जा सकेगा।

6. स्कूल वाहनों को समस्त व्यवस्था में श्रीकोल्ड चौराहे से जैन कॉलेज के बीच के प्रतिबंधित क्षेत्र को छोड़कर कहीं भी आने-जाने की छूट रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *