मंदसौर शिव महापुराण कथा:- सोमवार को मंदसौर में श्री शिव महापुराण कथा का पहला दिन रहा। कथा के पहले दिन ही इतनी भीड़ पहुंची कि श्रद्धालुओं के लिए बनाए गए पंडाल छोटे पड़ गए। अधिक भीड़ आने के कारण कथा में अवस्था नजर आई और जगह कम पड़ने पर श्रद्धालुओं को धूप और गर्मी से परेशान होते होते कथा सुननी पड़ी।

मंदसौर शिव महापुराण कथा:- कॉलेज मैदान परिसर में पंडाल के आसपास टेंट भी लगाए गए हैं लेकिन इसके बाद भी हजारों श्रद्धालुओं को धूप में बैठकर ही कथा को स्मरण करना पड़ा। आयोजन कर्ताओं द्वारा कथा स्थल पर 3.20 लाख वर्ग फिट का डोम तैयार कराया गया था जिस पर करीब 200000 श्रद्धालुओं के बैठने का दावा किया गया था। पहले दिन ही कथा सुनने करीब एक लाख श्रद्धालु पहुंचे लेकिन इनमें भी पंडाल छोटा पड़ गया और कई सारे श्रद्धालुओं को धूप और गर्मी से परेशान होकर ही कथा सुननी पड़ी। आयोजक समिति द्वारा पंखे और कूलर की व्यवस्था सिर्फ वीआईपी पंडाल तक ही की गई है। आम श्रद्धालु तेज धूप और गर्मी से परेशान होते रहे। इसके बावजूद भी आस्था में डूबे श्रद्धालुओं ने अव्यवस्था और धूप को नजरअंदाज कर श्री शिव महापुराण कथा का श्रवण किया।

जल व्यवस्था नहीं होने से भी श्रद्धालु परेशान दिखे

मंदसौर शिव महापुराण कथा:- कथा पंडाल में पानी की व्यवस्था नहीं होने से भी श्रद्धालुओं को परेशान होना पड़ा। इसके बाद जब कथा का लाइव प्रसारण समय पर शुरू नहीं हो पाया तो अफवाहों का दौर शुरू हो गया। श्री शिव महापुराण कथा मंदसौर का लाइव प्रसारण आस्था चैनल पर किया जा रहा है। जो श्रद्धालु कथा स्थल पर नहीं पहुंच पाए वह एक दूसरे को फोन लगा कर पूछ ताछ करते रहे। एक और अवस्था यह नजर आएगी श्रद्धालुओं को कथा स्थल तक किराया देकर ही पहुंचना पड़ा जबकि आयोजन कर्ताओं द्वारा द्वारा दावा किया गया था कि श्रद्धालुओं को कथा स्थल तक निशुल्क पहुंचाने की व्यवस्था की जाएगी। कथा के दूसरे दिन सुविधाएं बढ़ाने का दावा किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *