मध्यप्रदेश न्यूज़: मध्यप्रदेश के मंदसौर शहर के जिला अस्पताल में एक महिला की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा मचा दिया। परिजनों ने जानकारी देते हुए बताया कि नंदुबाई अहिरवार उम्र 45 वर्ष निवासी हरवार जिला नीमच तहसील जीरन को बुखार और सांस की तकलीफ़ के चलते मंदसौर जिला चिकित्सालय भर्ती कराया गया था। आज सुबह जब महिला की तबीयत अचानक बिगड़ी तो परिजनों द्वारा स्टाफ को सूचना दी गई।

मध्यप्रदेश न्यूज़: सूचना मिलने के बाद स्टाफ नर्सों ने कहा कि ‘ वार्ड की सफाई होने के बाद देखेंगे इतने में महिला मर थोड़ी जाएंगी’। इसके कुछ समय पश्चात ही इलाज के अभाव में महिला की मौत हो गई। महिला के परिजनों ने बताया कि उसे सांस लेने में परेशानी हो रही थी अगर महिला को आक्सीजन भी लगा देते तो वह बच जाती। महिला के आसपास भर्ती मरीजों ने भी बताया कि अगर महिला को समय पर इलाज मिल जाता तो महिला की मौत नहीं होती। परिजनों ने बहुत बार जाकर महिला की बिगड़ती हालात को देखते हुए नर्सों को जानकारी भी दी लेकिन महिला को कोई देखने तक नहीं आया। इसके बाद परिजनों ने हंगामा कर चक्काजाम कर दिया। परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन और स्टाफ पर लापरवाही के आरोप लगाते हुए कार्यवाही की मांग की है। करीब घार घंटे तक हंगामा और समझाइस का दौर चलता रहा, तब तक शव वार्ड में ही पड़ा रहा।

महिला की मौत के बाद परिजनों ने किया हंगामा

दो स्टाफ नर्सों को जांच होने तक चिकित्सालय से निलंबित कर दिया गया है

मध्यप्रदेश न्यूज़: परिजनों ने हंगामा करते हुए मांग करते हुए कहा कि जब तक स्टाफ नर्सों को अस्पताल से निलंबित नहीं किया जाता, हम शव नहीं उठाएंगे। मामले में सीएमएचओ डॉ अनिल नकुम ने जानकारी देते हुए बताया कि परिजनों द्वारा लगाए गए आरोप की जांच की जा रही है। जांच आर एम ओ डाक्टर के सी दवे को सौंपी गई है। वह दो दिनों में जांच कर रिपोर्ट सौंप देंगे। जांच पूरी होने तक दोनों स्टाफ नर्स पूजा पाटीदार और पूजा झार्डे को हटाया गया है। मामले की जांच होने के बाद खुलासा किया जाएगा और आरोपियों को सजा दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *