मध्यप्रदेश न्यूज़: दुनिया में मां से बड़ा योद्धा कोई नहीं होता। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में एक मां अपने 15 महीने के बेटे को बचाने के लिए बाघ से लड़ पड़ी। मां अपने 15 महीने के बेटे को बचाने के लिए करीब 20 मिनट तक टाइगर से लड़ी। इस दौरान बाघ के नाखून मां के कपड़ों तक चले गए लेकिन मां ने हार नहीं मानी और आखिरकार बाघ के जबड़े से अपने बेटे को छुड़वा लिया। घटना रोहनिया गांव की है।

मध्यप्रदेश न्यूज़: जानकारी के अनुसार मानपुर बफन जोन से लगी ज्वालामुखी बस्ती निवासी भोला चौधरी की पत्नी अर्चना सुबह करीब 10:00 बजे अपने बेटे राजवीर को लेकर नजदीक की बाड़ी में शौच के लिए गई थी। इस दौरान झाड़ियों में छिपा बाघ लकड़ी और तार की फेंसिंग फांदकर अंदर आया और बच्चे को अपने जबड़े में पकड़ लिया। इसके बाद अपने बच्चे को बचाने के लिए अर्चना बाघ से लड़ने लगीं और आखिरकार 20 मिनट तक संघर्ष करने के बाद मां ने बाघ से अपना बेटा छिन लिया। शोर सुनकर आस पास के लोग वहां लाठीया लेकर पहुंचे और उन्हें देख बाघ जंगल की ओर भाग गया। बच्चे और मां दोनों को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *