15 अगस्त के बाद हो सकता है मंडी का भूमिपूजन Shamgarh Mandi

Shamgarh mandi

शामगढ़ : शामगढ़ की नई कृषि उपज मंडी के लिए सारी औपचारिकताएं अब लगभग पूरी हो गई हैं। 15 अगस्त के बाद कभी भी पर्यावरण मंत्री हरदीपसिंह डंग इसका भूमिपूजन कर सकते हैं। धामनिया दीवान में विद्युत ग्रीड के पास लगभग 42 बीघा जमीन का भूभाटक भरने के साथ 8 लाख रुपये भी जमा कर दिए हैं। कृषि उपज मंडी के नाम हाल ही में रजिस्ट्री भी हो गई है। अब भूमिपूजन की तैयारी चल रही है।

नवीन मंडी परिसर में 1 सितंबर से लहसुन एवं प्याज की खरीदी होगी। इसके लिए मंडी प्रशासन इसी माह 3 शेड बनाने के साथ ही 30 भुगतान काउंटर भी बना रहा है। मंडी सचिव पर्वतसिंह यादव ने सभी व्यापारियों के साथ बैठक कर लहसुन-प्याज की नीलामी अब नवीन मंडी में ही कराने के साथ कई निर्णय लिए। मंडी सचिव यादव ने बताया कि जैसी ही मंडी बोर्ड भोपाल से राशि प्राप्त होगी नवीन मंडी के लिए निर्माण कार्य तेज गति से प्रारंभ कर दिया जाएगा। इधर लहसुन, प्याज लेकर आने वाले वाहनों के कारण वर्तमान मंडी के बाहर सड़कों पर जाम लगता था। इसके अलावा मंडी परिसर छोटा होने से लहसुन प्याज से होने वाली परेशानी से बचा जा सकेगा। इसके बाद गल्ला व धनिया की आवक ज्यादा हो सकेगी।

उल्लेखनीय है कि शामगढ़ में नई कृषि उपज मंडी के लिए दो सालों से प्रक्रिया चल रही है। कलेक्टर कार्यालय से बार-बार छोटी-छोटी जानकारियों को फाइल कई मर्तबा मंदसौर से शामगढ़ व गरोठ एसडीएम कार्यालय के बीच घूम रही थी। चार दिन पूर्व ही गरोठ एसडीएम रविंद्र परमार ने नई कृषि उपज मंडी के लिए रजिस्ट्री कराकर सारी औपचारिकताएं पूर्ण की। अब संभवतया पर्यावरण मंत्री हरदीपसिंह डंग 15 अगस्त के बाद नवीन मंडी के लिए भूमिपूजन कर देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *