आज की ताजा खबर: आज के युग में भी राक्षस जिंदा है। सोमवार सुबह दुमका में अंकिता उम्र 17 वर्ष का कड़ी सुरक्षा के साथ अंतिम संस्कार किया गया। रविवार जब अंकिता के मौत की खबर सामने आई तो दुमका में तनाव का माहौल पैदा हो गया। शहर के सभी बाजार बंद हो गए। लोगों में आक्रोश छा गया और सभी गुस्साए लोग सड़कों पर उतर आए। जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की गई। सड़कों को घंटों तक जाम रखा गया और विरोध प्रदर्शन में वीएचपी, बजरंग दल, भाजपा के अलावा बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। यह स्थिति देखते हुए प्रशासन ने शहर में धारा 144 लागू कर दी है।

कडी़ सुरक्षा में निकाली गई अंकिता की अंतिम यात्रा

आज की ताजा खबर:– सोमवार सुबह भी शहर में विरोध प्रदर्शन जारी रहा है और लोगों द्वारा आरोपी शाहरुख को फांसी देने की मांग की गई। अंकिता ने 5 दिनों तक संघर्ष करने के बाद अस्पताल में दम तोड़ दिया। मौत की खबर आने के बाद अंकिता के अंतिम संस्कार में हजारों की संख्या में भीड़ जमा हो गई और कड़ी सुरक्षा के साथ अंकिता के अंतिम संस्कार का कार्यक्रम पूरा किया गया। अंकिता के अंतिम संस्कार के दौरान कई अफसर भी मौजूद रहे और बड़ी संख्या में पुरुष और महिला बल तैनात किया गया।

अंकिता ने दम तोड़ने से पहले बताई अपनी आपबीती

आज की ताजा खबर:– अस्पताल में दम तोड़ने से पहले अंकिता ने अपनी आपबीती बयां करते हुए कहा कि वह 23 अगस्त की रात अपने घर के रसोई घर में सोई हुई थी। इस दौरान पड़ोस में रह रहे आरोपी शाहरुख ने 5:00 बजे आकर रसोई घर में पेट्रोल डाल दिया और आग लगा दी। मैंने खिड़की के पास जब आग की लपटें देखी तो मैं घबरा उठी और जब मैंने खिड़की के पास जाकर देखा तो बाहर पड़ोसी शाहरुख हुसैन पेट्रोल की कैंन लेकर भाग रहा था। आग ने मेरे शरीर को अपनी शादी में कर लिया था और मुझे जलन महसूस हो रही थी। मैं चिल्लाई और परिजन मेरे पास आए और मुझे दुमको के मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में ले गए। 5 दिन इलाज चलने के बाद अंकिता ने दम तोड़ दिया।

अस्पताल में बताई अंकिता ने अपनी आपबीती

10-15 दिनों से परेशान कर रहा था, स्कूल कोचिंग जाते समय पीछा करता था

आज की ताजा खबर:- अंकिता ने यह भी कहा कि मैं सिर्फ यही देख पाई कि शाहरुख ने ब्लू टीशर्ट पहन रखा था और पेट्रोल की कैन लेकर भाग रहा था। यह वही शाहरुख था जो मोहल्ले में आवारा किस्म के लड़कों में गिना जाता था और अंकिता को भी हर 10-15 दिनों से परेशान कर रहा था। शाहरुख का काम यही था कि दिन भर लड़कियों को परेशान करना और उन्हें अपने झांसे में फंसा कर इधर-उधर घुमाना था। आरोपी शाहरुख पिछले 10-15 दिनों से अंकिता का पीछा कर रहा था और अंकिता जब भी स्कूल या ट्यूशन जाती थी तो उसके पीछे पीछे जाता था। कुछ दिनों बाद आरोपी शाहरुख ने अंकिता के मोबाइल नंबर कहीं से जुगाड़ लिए थे जिसके बाद वह उसे रोजाना फोन लगाकर दोस्ती बनाने के लिए दबाव डालता था।

पुलिस कस्टडी में भी हंसता हुआ दिखाई दिया आरोपी

पुलिस कस्टडी में हंस रहा आरोपी, परिवार को मारने की धमकी दी थी

आज की ताजा खबर:- आरोपी गिरफ्तार होने के बाद पुलिस कस्टडी में भी हंसता हुआ दिखाई दिया। आरोपी को अपनी हरकत का कोई पछतावा तक नहीं हो रहा है। पुलिस जब आरोपी को गिरफ्तार कर ले जा रही थी तो वह हंसते हुए जा रहा था। अंकिता ने यह भी कहा था कि शाहरुख ने मोबाइल पर दोस्त नहीं बनने पर मुझे और परिवार वालों को मारने की धमकी दी थी। अंकिता उसकी हरकतों को अच्छी तरह से जानती थी लेकिन उसे अंदाजा नहीं था कि आरोपी उसके साथ ऐसी हरकत करेगा। 22 अगस्त को शाहरुख ने अंकिता को बात नहीं करने पर मारने की धमकी दी थी। यह बात अंकिता ने अपने पापा को बताई और पापा ने कहा कि कल सुबह मामले का हल निकाला जाएगा। 23 अगस्त को मामले का हल निकले उससे पहले ही सुबह 5 बजे शाहरूख ने पेट्रोल डालकर आग लगा दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *