चौमहला स्टेशन पर बीकानेर-बिलासपुर ट्रेन का ठहराव शुरू – Mandsaur News: चौमहला स्टेशन पर बीकानेर-बिलासपुर ट्रेन का ठहराव शुरू

0
43
train

चौमहला  चौमहला स्टेशन पर बीकानेर-बिलासपुर एक्सप्रेस ट्रेन का ठहराव रविवार से प्रारंभ हो गया है। रेल प्रशासन ने इसकी स्वीकृति जारी कर दी है। सांसद दुष्यंतसिंह ने ट्रेन को हरी झंडी बताई। रेलवे सूत्रों के अनुसार ट्रेन नंबर 20846 बीकानेर बिलासपुर का ठहराव चौमहला में 14 अगस्त से शुरू हो गया है। विधायक कालूराम मेघवाल भी मौजूद रहें। ट्रेन नंबर 20846 बीकानेर-बिलासपुर सप्ताह में दो दिन रविवार व मंगलवार को दोप. 1ः56 बजे चौमहला आएगी। यहां दो मिनट का ठहराव होगा। वही ट्रेन नंबर 20845 बिलासपुर-बीकानेर सप्ताह में दो दिन रविवार व शुक्रवार को दोप. 2ः08 बजे चौमहला आएगी। इसके अलावा बिलासपुर-भगत की कोठी एक्सप्रेस का ठहराव पहले से ही चौमहला में हैं। अब चौमहला से नागदा की तरफ जाने के लिए सप्ताह में चार दिन शनिवार, रविवार, मंगलवार, गुरुवार को दोपहर में ट्रेन मिलने लगेगी। वही चौमहला से कोटा की तरफ के लिए रविवार,मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार को ट्रेन मिलेगी। ट्रेन का ठहराव शुरू होने से लोगों में काफी खुशी व्याप्त है। भाजपा मंडल अध्यक्ष गौतम जैन सहित कई लोगों ने बीकानेर-बिलासपुर एक्सप्रेस के चालकों का साफा बांधकर स्वागत किया गया।

जीएसटी पंजीयन की नई प्रक्रिया से व्यापारियों को मिलेगा लाभ

वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने कहा

मंदसौर। वाणिज्यिक कर विभाग ने जीएसटी पंजीयन प्रक्रिया को सरल बनाते हुए आदर्श प्रक्रिया स्टैंडर्ड आपरेटिंग प्रोसिजर जारी कर दी है। इससे व्यापार करना और ज्यादा सरल हो जाएगा। पूर्व में नए जीएसटी पंजीयन प्राप्त करने में व्यवसायियों को समस्याएं आ रही थी।

यह जानकारी देते हुए वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने विभाग व्यवसायियों को इज आफ डूइंग बिजनेस में सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध है। इससे प्रदेश की अर्थ-व्यवस्था में ज्यादा से ज्यादा योगदान दे सकें। वाणिज्यिक कर आयुक्तय लोकेश कुमार जाटव ने बताया कि जीएसटी पंजीयन के लिए एसओपी जारी करने से व्यवसायियों तथा विभाग के अधिकारियों की समस्याओं का समाधान हो जाएगा। विभाग के अधिकारियों को जीएसटी रजिस्ट्रेशन के आवेदन के साथ संलग्न करने योग्य दस्तावेज, व्यवसाय की प्रकृति के अनुसार करने के लिए निर्देशित किया गया है। इन दस्तावेज का सत्यापन स्वयं अधिकारियों द्वारा अलग-अलग विभागों की वेबसाइट से किस प्रकार किया जाना चाहिये इस संबंध में भी दिशा-निर्देश दिए गए है। व्यवसायियों को अतिरिक्त दस्तावेज प्रस्तुत करने के लिए बाध्य नहीं होना पड़ेगा। इससे पंजीयन जारी करने की प्रक्रिया जल्द पूरी हो सकेगी। नई आदर्श प्रक्रिया में अब सिर्फ आवेदक का पेन, आधार, मोबाइल नंबर, मेल आइडी एवं व्यवसायिक स्थल के प्रमाण के आधार पर ही जीएसटी पंजीयन जारी किया जाएगा। नई एसओपी अनुसार पंजीयन की कार्यवाही करने के लिए अधिकारियों को लगातार निर्देशित किया जा रहा है। एसओपी जारी होने से एक ओर प्रदेश के जीएसटी विभाग के समस्त कार्यालयों में पंजीयन की प्रक्रिया में एकरुपता होगी। वहीं दूसरी तरफ व्यवसायियों के पंजीयन के सत्यापन हेतु अतिरिक्त दस्तावेज प्रस्तुत करने की अनिवार्यता भी समाप्त होगी। विभिन्ना व्यवसायिक संगठन एवं विधिक संगठन लंबे समय से ऐसी व्यवस्था की मांग करते आ रहे थे। नई एसओपी से बोगस पंजीयन में रोक लगेगी। वास्तविक व्यवसायियों को अनावश्यक दस्तावेज की मांग से मुक्ति मिलेगी और पंजीयन प्राप्त करने की प्रक्रिया में शीघ्रता आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here