शामगढ़ में फंसा पेंच मंत्री ने डाले निर्दलीयों पर डोरे : Mandsaur News

0
43
Shamgarh news

Mandsaur News शामगढ़ में इस बार चौंकाने वाले नतीजे आए । कांग्रेस भाजपा में कांटे की टक्कर रही हैं। भाजपा को सात, कांग्रेस को छह में जीत मिली हैं। यहां दोनों निर्दलीय महत्वपूर्ण हो गए हैं। दोनों ही भाजपा से बगावत कर चुनाव लड़े हैं इसके चलते पार्टी ने छह साल के लिए निष्कासित भी कर दिया हैं। पर भाजपा व कांग्रेस को बहुमत नहीं मिलने से दोनों निर्दलीय जिधर होंगे उसका अध्यक्ष होगा। इसके चलते मंत्री हरदीपसिंह डंग ने शाम तक दोनों जीते हुए बागियों के भाजपा के साथ ही होने की घोषणा कर दी। इंटरनेट मीडिया पर यह खबरे वायरल होने के बाद दोनों ही भड़क गए और कहा कि अभी हमने कोई फैसला नहीं किया हैं।

नगर परिषद में इस बार 15 में से भाजपा 7 व कांग्रेस को 6 वार्ड में जीत मिली हैं। दो निर्दलीय जीते हैं। स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने से भाजपा का समीकरण बिगड़ने का खतरा देखते हुए दोपहर को पर्यावरण मंत्री हरदीपसिंह डंग शामगढ़ आए और सीधे विजयी बागी प्रत्याशी कृष्णा नवीन फरक्या के निवास पर पहुंचे। मंत्री डंग ने कृष्णादेवी के पति नवीन को माला पहनाकर स्वागत किया। मंत्री ने नवीन फरक्या से कहा कि आप तो हमारे ही हो। आपका स्वागत है। इसके बाद मंत्री डंग ने एक अन्य विजयी बागी डाली रामगोपाल जोशी को भी भाजपा नेताओं के जरिये डाक बंगले बुलाया और दोनों निर्दलीयों के समर्थन की घोषणा कर दी। हालांकि बाद में रामगोपाल जोशी ने इसका खंडन करते हुए कहा कि मुझे डाक बंगले में जबरदस्ती बुलाकर ले गए थे। मैने अभी कोई निर्णय नहीं लिया है।

रमेशचंद्र काला की हार ने सबको चौंकाया

इधर भाजपा में पूर्व नप अध्यक्ष संतोष काला के पति रमेशचंद्र काला की हार सबको चौकाने वाली रही। वार्ड चार में रमेशचंद्र काला को कांग्रेस की माधुरी पवन पांडे ने 667 मतों से पराजित किया। वार्ड 12 में कांग्रेस प्रत्याशी पिंकी माली जमानत तक नहीं बचा पाई। उन्हें 550 मतों में से मात्र 28 मत मिले। यहां भाजपा की राधा गोपाल नंदवानी विजयी रही। आम आदमी पार्टी की विष्णुकांता मीणा दूसरे नंबर पर रही। उल्लेखनीय है कि परिषद चुनाव में कांग्रेस ने सभी प्रत्याशियों को अपने भरोसे पर छोड़ दिया था। कांग्रेस की तरफ से कोई नेता जिले से भी नहीं प्रचार करने तक नहीं आएं। जबकि मंत्री डंग ने अधिकांश वार्डों में घर-घर जाकर भाजपा प्रत्याशियों के लिए वोट मांगे। वार्ड 8 में कापी मशक्कत के बाद भाजपा प्रत्याशी सिद्धार्थ जोशी 42 वोट से विजयी हुए। वहां बागी हुकुमचंद्र पाटीदार ने कड़ी टक्कर दी। वार्ड 11 में कांग्रेस के फिरोज अगवान व कांग्रेस के बागी शरीफ पठान के खड़े होने से भाजपा के नीलू खन्नाा 80 मतों से विजयी रहें। अनिल नीलू खन्नाा लगातार तीसरी बार पार्षद बने हैं।

कांग्रेस के पार्षद बढ़े, भाजपा के घटे

2014 में हुए पिछले चुनाव में भाजपा के 10 पार्षद थे और कांग्रेस के 5 थे। इस बार भाजपा के 7 कांग्रेस के 6 व 2 निर्दलीय जीते हैं। भाजपा में अध्यक्ष के दावेदारों में कविता नरेंद्र कुमार यादव, राधा गोपाल नंदवानी व नीलू खन्नाा है। दो निर्दलीय किसको समर्थन देंगे उसके बाद ही यह तय होगा। वार्ड 10 से विजयी बागी कृष्णा नवीन फरक्या कविता यादव के समर्थन में आ सकती है। मगर उनके पति नवीन फरक्या ने कहा कि मंत्रीजी आए माला पहनाएं तो क्या हुआ। समर्थन थोड़े ही देंगे। टिकट के लिए काफी एड़ी चोटी का जोर लगाया। अभी तो तेल देखो तेल की धार देखों। इधर कांग्रेस में अध्यक्ष पद के दावेदारों में सुनयना जायसवाल, माधुरी पांडे के साथ विनोदबाई पटेल भी बताई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here