Railway

हादसे का खतरा : छात्र-छात्राएं भी पटरी पार कर ही निकलते हैं,

शामगढ़ । आलमगढ़ स्थित रेलवे फाटक 17 नवंबर से बंद है। लंबे अंतराल के बाद भी रेलवे अंडरब्रिज के लिए कोई हलचल नहीं हुई है। इसके कारण नागरिक परेशान हैं। पटरी पार क्षेत्र के लोगों को आवाजाही में बहुत दिक्कतें हो रही हैं। पटरी पार क्षेत्र में किसी की मृत्यु होने के बाद अंतिम क्रिया के लिए लोगों को अपनी जान को जोखिम में डालकर रेलवे पटरी पार करके जनाजा ले जाना पड़ रहा है। रेलवे ने शामगढ़ रेलवे स्टेशन से आलमगढ़ रेलवे फाटक तक रेलवे पटरी के आसपास न तो कोई दीवाल है न ही लोहे की जालिया लगा रखी है, जिसके कारण लोग निकलते है।

Railway

प्रतिदिन स्कूली छात्र-छात्राएं लंबी दूरी जाने की बजाए पटरी पार कर आवागमन करती है। जबकि रेलवे के नियमानुसार रेलवे पटरी पार करने पर रेलवे सुरक्षा बल द्वारा गिरफ्तार कर जुर्माना वसूलकर मुचलके पर छोड़ा जाता है, लेकिन आए दिनों किसी की मृत्यु होने पर अंतिम क्रिया के लिए नागरिक रेलवे पटरी को जान जोखिम में डालकर पार करते हुए ले जा रहे हैं। शुक्रवार को जूनी शामगढ़ फकीर मोहल्ले में मौत होने पर जनाजे को पटरी पार कर ले जाना पड़ा। जूनी शामगढ़ से कब्रिस्तान की दूरी पुल रेलवे ओवरब्रिज से तीन-चार किमी है। इधर अंडरब्रिज समिति के सरंक्षक पंडित विक्रम पुरोहित ने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों को चेतावनी देते हुए कहा कि समिति 15 अगस्त के बाद पुनः अंडरब्रिज के लिए आंदोलन प्रारंभ करेगी।

दिल्ली मुंबई रेल मार्ग स्थित शामगढ़ रेल लाइन पर अपडाउन दोनों और से कुछ-कुछ देरी में ट्रेनें आती-जाती है। ऐसे में कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। कुछ दिनों पहले ही कोटा मंडल के भरतपुर रेलवे स्टेशन पर हादसा हो चुका है। लोग जनाजे को चार-पांच किमी ले जाने की बजाय रेलवे पटरी पार कर ले जा रहे हैं। क्षेत्र के जिम्मेदार जनप्रतिनिधि इस ओर उदासीन बने हुए हैं।

पर्यावरण मंत्री हरदीपसिंह डंग ने अंडरब्रिज के लिए विधायक निधि से साठे आठ करोड़ स्वीकृत करने की बात कही है, मगर रेलवे के पास अभी तक राज्य शासन की और से अधिकृत पत्र के साथ राशि नहीं पहुंचने से मामला अधर में पड़ा हुआ है। निकाय चुनाव के दौरान प्रचार करने गए मंत्री श्री डंग से लोगों ने अंडरब्रिज के लिए सवाल जवाब किए भी थे। पिछले माह ही में शामगढ़ आए कोटा डीआरएम पंकज शर्मा ने राशि नहीं मिलने की बात कहते हुए कहा था कि राज्य शासन से राशि अभी तक प्राप्त नहीं हुई है। राशि आते ही अंडरब्रिज की प्रक्रिया प्रारंभ कर देंगे। आरपीएफ प्रभारी प्रतापसिंह ने कहा वे अभी अवकाश पर है मेरी जानकारी में नहीं है। मगर रेलवे पटरी क्रास करना अपराध है। अंडरब्रिज बनाओ समिति अध्यक्ष अभिषेक मिश्रा ने कहा रेलवे पटरी के आसपास रेलवे ने रोक-टोक के लिए कोई दीवाल या जंगले तक नहीं लगा रखे है। प्रतिदिन लोग खासकर स्कूली बच्चे पटरी पार कर आ जा रहे है। अंडरब्रिज समिति के संरक्षक पंडित विक्रम पुरोहित ने कहा कि 15 अगस्त के बाद रेलवे अंडरब्रिज के लिए पुन आंदोलन प्रारंभ करेंगे। उल्लेखनीय है कि अंडरब्रिज के लिए समिति ने एक माह तक आंदोलन किया था। आश्वासन के बाद इसे समाप्त किया था। मगर लंबे अंतराल के बाद भी कोई हलचल नहीं दिख रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *