neet exam
Mandsaur News चिकित्सा महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए 17 जुलाई को हुई नीट की परीक्षा में मंदसौर के वात्सल्य स्कूल को भी परीक्षा केन्द्र बनाया गया था। पर यहां वात्सल्य स्कूल परीक्षा केंद्र के स्टाफ पर गंभीर लापरवाही के आरोप लग रहे हैं। इससे परीक्षार्थियों का काफी समय खराब हुआ। एक घंटे तक परीक्षा केंद्र की लापरवाही के कारण परीक्षार्थियों के भविष्य पर प्रश्नचिन्ह खड़ा हो गया हैं। लापरवाही को लेकर छात्रा प्रियंका शर्मा ने कलेक्टर गौतमसिंह को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है।
neet exam

प्रियंका शर्मा ने कलेक्टर को लिखे पत्र में बताया कि 17 जुलाई को मंदसौर में नी परीक्षा केंद्र वात्सल्य स्कूल मंदसौर में स्टाफ द्वारा दोपहर दो बजे सभी परीक्षार्थियों को ओएमआर शीट वितरित कर दी गई। पर तीन बजे बताया गया कि गलत ओएमआर शीट दे दी गई थी और लगभग 60 मिनट देरी से नई ओएमआर शीट छात्रों को दी गई। परीक्षा केंद्र स्टाफ की लापरवाही से सभी छात्रों का 60 मिनट का नुकसान हो गया। वात्सल्य स्कूल के प्रबंधन ने परीक्षार्थियों से कहा कि जो 60 मिनट का नुकसान आपको हुआ है वह समय आगे बढ़ाकर क्षतिपूर्ति कर दी जाएगी। लेकिन शाम 5ः40 पीएम पर ओएमआर शीट ले ली गई। छात्रों को प्रश्नपत्र हल करने के लिए पूरा समय नहीं दिया गया। स्टाफ की लापरवाही के कारण कई छात्र प्रश्नोत्तर हल नहीं कर सके। परीक्षा केंद्र स्टाफ की लापरवाही के कारण सभी छात्रों की मेहनत पर पानी फिर गया है। क्योंकि अगली परीक्षा के लिए एक वर्ष का इंतजार करना पड़ेगा। इस लापरवाही के कारण भविष्य अंधकारमय हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *