दर्द से कराहता रहा युवक गोली देकर रातभर बैठाए रखा : Mandsaur News

धुंधड़का में रात में रोगियों को नहीं मिलता उपचार

धुंधडका  स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का खामियाजा जिला अस्पताल से लगाकर ग्रामीण अंचल में स्थापित प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग की अनदेखी के साथ जिम्मेदार चिकित्सकों की लापरवाही को लेकर मरीजों के उपचार में गड़बड़ी के मामले बढ़ रहे हैं।

Health

धुंधड़का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भी आए दिन स्वास्थ्यकर्मियों की लापरवाही का खामियाजा क्षेत्रीय जनता को भुगतना पड़ रहा है। धुंधड़का सामूदायिक स्वास्थ्य केंद्र की बात अगर सामने आती है तो क्षेत्र के करीब 100 से भी अधिक ग्रामों में निवासरत जनता को आपातकालीन उपचार के लिए जिले के धुंधड़का में 2.75 करोड़ रुपये में बने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मूलभूत स्वास्थ्य सुविधा भी मुहैया नहीं हो रही है। बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात में दलौदा थाना क्षेत्र के ग्राम लामगिरी निवासी रामप्रसाद पुत्र नागूलाल सूर्यवंशी को आपसी विवाद में शरीर में चोट लगी थी। उपचार के लिए धुंधड़का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आए पर चिकित्सलक नहीं होने से प्राथमिक उपचार भी नहीं मिल पाया। स्वास्थ्यकर्मियों ने गोली देकर प्राथमिक उपचार के लिए मरीज को सुबह तक हास्पिटल परिसर में बैठाये रखा। इधर मरीज को शरीर में कई जगह चोट लगने पर दर्द से कहराते हुए बुधवार रात 12 बजे से गुरुवार सुबह 9 बजे तक हास्पिटल परिसर में डाक्टर का इंतजार करना पड़ा। मरीज रामप्रसाद ने बताया कि किसी भी डाक्टर ने अपनी जिम्मेदारी के साथ मेरा उपचार करना उचित नहीं समझा। मरीज के हाथ पैरों पर भी चोट लगी थी। इधर स्वास्थ्य केंद्र के बीएमओ डा. सतीश गौड़ ने भी मोबाइल रिसीव नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *