मध्यप्रदेश में सरकार द्वारा सभी जिलों में शासकीय जमीन पर हुए स्थाई और अस्थाई अतिक्रमण को हटाने की कार्यवाही की जा रही है। अतिक्रमण को हटाने का सबसे अधिक असर प्रदेश के मंदसौर और इंदौर जिले में देखने को मिल रहा है। आपने अभी तक बहुत इमारते गिरती हुई देखी होगी लेकिन बीते कल इंदौर में अतिक्रमण हटाते वक्त इमारत पोकलेन पर गिर गई। 


मध्यप्रदेश न्यूज़: मामला मध्यप्रदेश के इंदौर शहर का है जहां नगर निगम द्वारा अतिक्रमण पर बनाई गई इमारत को गिराया जा रहा था। नगर निगम की एक छोटी लापरवाही के कारण यह कार्यवाही एक बड़े हादसे में बदल गई। इंदौर की नगर निगम पोकलेन लेकर शासकीय जमीन पर बनी अतिक्रमण की इमारत को गिराने पहुंची, जिसे पोकलेन से तोड़ा जा रहा था। कार्यवाही में अजीब यह देखने को मिला कि नगर निगम इमारत को ऊपर की बजाय नीचे से तोड़ रही थी और जैसे ही इमारत का आधार कमजोर हुआ इमारत पोकलेन पर जा गिरी। यह नजारा देखने लायक था जो साइड में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। पोकलेन पर इमारत गिरने से पोकलेन ड्राइवर बुरी तरह घायल हो गया, हालांकि अच्छी बात यह रही कि पोकलेन ड्राइवर की जान बच गई। निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने कहा कि बी आई और बीओ को नोटिस जारी किया जाएगा। घायल कर्मचारी का इलाज नगर निगम ही करवाएगा।

ड्राइवर के दोनों पांव मलबे में दब गए, मौजूद कर्मचारियों ने बड़ी मशक्कत से बाहर निकाला

मध्यप्रदेश न्यूज़: इंदौर नगर निगम की टीम गुरुवार को ग्रेटर बृजेश्वरी में बनी अवैध बिल्डिंग को गिराने पहुंची थी। कार्यवाही के दौरान इमारत पोकलेन मशीन पर गिर गई। मशीन का आगे का हिस्सा पूरी तरह मलबे में दब गया और ड्राइवर का केबिन भी क्षतिग्रस्त हो गया। पोकलेन ड्राइवर की दोनों टांगे भी मलबे में दब गई जिसे वहां पर मौजूद कर्मचारियों ने बड़ी मशक्कत के साथ ड्राइवर को बाहर निकाला। घटना में पोकलेन का ड्राइवर बुरी तरह घायल हो गया और उसकी एक टांग पूरी तरीके से दब गई। ड्राइवर को बाम्बे हॉस्पिटल के ICU में भर्ती कराया है। कार्रवाई शुरू होते समय सुबह निगम की उपायुक्त लता अग्रवाल वहां पहुंची थी। लेकिन अधिकतर हिस्सा गिरने के बाद वह दोपहर को वापस चली गई। इस दौरान बी ई ओ शैलेंद्र मिश्रा और बी ओ गजल खन्ना वहीं मौजूद थे। उनके सामने ही पूरा हादसा हुआ है। नगर निगम की लापरवाही सामने दिख रही है। सूचना मिलने के बाद अपर आयुक्त संदीप सोनी भी वहां पहुंचे थे। मामले की जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *