मंदसौर न्यूज़: मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में पुलिस ने एक बाइक चोर गिरोह को गिरफ्तार किया है। बाइक चोर गिरोह ने अपनी पहचान बनाने के लिए सभी ने एक प्रकार का कड़ा पहन रखा था। बाइक चोर गिरोह अपना नाम मशहूर करना चाहता था। हालांकि चोरों का समूह सफल नहीं हो पाया और पुलिस के हत्थे चढ़ गया। 


मंदसौर न्यूज़: बाइक चोरी के मामले में मंदसौर पुलिस में 5 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। बदमाशों के समूह में से एक आरोपी अभी भी फरार चल रहा है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। पुलिस ने पांचों बदमाशों के पास से 25 बाइक बरामद की है। बदमाशों ने अपने समूह में तीन नाबालिग बच्चों को भी रखा था जिनसे वह बाइक का ताला खुलवाते थे। पुलिस ने तीनों नाबालिगों को बाल न्यायालय पेश किया है। बदमाश नाबालिग बच्चों को भीड़भाड़ वाले इलाकों में रखी बाइक के लोग को तुड़वा कर उन्हें चोरी करते थे। मंदसौर मंडी नगर थाना टीआई जितेंद्र पाठक ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि एक बाइक चोर बदमाश बाइक ( mp 14 NF 1105 ) चोरी करके जग्गा खेड़ी से पिपलिया मंडी जाने वाला है। इसके बाद पुलिस ने बाइक चेकिंग स्टार्ट की और जैसे ही बदमाश वहां पहुंचे वह पुलिस को देख खदान की ओर भागने लगे लेकिन पुलिस ने घेराबंदी कर आरोपी और नाबालिक को बाइक के साथ गिरफ्तार कर लिया।

बदमाशों ने गैरेज खोल रखे थे, 4-5 महिनों से कर रहे थे बाइक चोरी

मंदसौर न्यूज़: पूछताछ में आरोपी ने अपनी पहचान दीपक पिता जगदीश जाटव निवासी जग्गा खेड़ी बताई। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर पूरे गिरोह को गिरफ्तार किया। इनमें दीपक पिता अशोक माली, रोनक पिता दुष्यंत राठौर, अजय पिता राधेश्याम जाटव निवासी इंदिरा कॉलोनी, और शेर अली खान निवासी पानपुर को गिरफ्तार किया है। शंकर पिता प्रभु लाल गुर्जर अभी फरार चल रहा है। इनमें तीन नाबालिक बच्चे भी शामिल थे। बदमाशों ने काम को अंजाम देने के लिए गेराज खोल रखे थे और बदमाश शहर और राजस्थान स्थित सांवलिया जी मंदिर से भी बाइक चोरी करते थे। बाइक की लॉक खोलने के लिए विभिन्न चाबियो का इस्तेमाल करते थे और लॉक खोलने पर साथी को इशारा देकर बाइक चुरा लेते थे। बदमाशों का समूह पिछले पांच महीनों से यह कार्य कर रहा था। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे से चोरों की तलाश शुरू की। आरोपी एक बच्चे को चाय नाश्ता का लालच देकर मंदसौर लाते थे और बाइक चुराने में उपयोग करते थे। सभी आरोपियों ने एक प्रकार का कड़ा पहन रखा था। वह कड़ा गैंग के नाम से मशहूर होना चाहते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *