मंदसौर जेल में रेप करने वाले ने खाया जहर, बोला- झूठे आरोप में फंसाया, जेल की जिंदगी नहीं जीना चाहता

0
25

मध्यप्रदेश के मंदसौर शहर में जेल में बंद एक आरोपी ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। आरोपी ने मरने से पहले तीन पेज का सुसाइड नोट भी लिखा है। इसमें आरोपी ने कहा है कि उसने कोई दुष्कर्म नहीं किया इसके बावजूद भी उसे जेल में रखा जा रहा है। वह जेल में जिंदगी गुजारना चाहता था इसलिए जहर खाकर आत्महत्या कर ली।


मध्यप्रदेश न्यूज़: मंदसौर शहर के जेल में रेप के मामले में कैद एक आरोपी ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। शनिवार की सुबह जब आरोपी को बेहोशी की हालत में देखा गया तो जेल कर्मचारियों द्वारा कैदी को जिला अस्पताल पहुंचाया गया। जिला अस्पताल में इलाज के दौरान आरोपी की मौत हो गई। आरोपी ने जहर खाने से पहले जेल में ही 3 पेज का सुसाइड नोट लिखा था जिसमें उसने कहा था कि मेरे ऊपर गलत आरोप लगाया गया है और उन्हें जेल की जिंदगी नहीं जीना चाहता हूं। मंदसौर जेल अधीक्षक प्रेम सिंह ने बताया कि सुबह 9 बजे जेल में बंद कैदी धर्मेंद्र पिता लक्ष्मी नारायण अहिरवार निवासी अजय पुरा सुवासरा के मुंह से झाग निकलता देखा गया। इसके बाद उसे जिला अस्पताल ले जाया गया लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

कैदी ने 3 पेज के सुसाइड नोट में क्या लिख रखा था

मध्यप्रदेश न्यूज़: आरोपी के जेब से पुलिस को 3 पेज का सुसाइड नोट भी प्राप्त हुआ है जिसमें आरोपी ने लिखा हुआ था कि उसे रेप के मामले में झूठा फसाया गया है जबकि उसने कुछ किया ही नहीं है। कैदी ने नोट में यह भी लिखा कि दरअसल मामला यह था कि रेप का आरोप लगाने वाली महिला और उसके परिवार वालों ने कैदी से ₹700000 की मांग की थी लेकिन कैदी की इतनी हैसियत नहीं थी। इसके बाद महिला ने कैदी के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया और उसे जेल हो गई। मतक कैदी ने सुसाइड नोट पर यह भी कहा कि मैं पहले ही 3 और 5 महिने की जेल काट चुका हुं लेकिन मझसे अब यह सब नहीं सहा जाएगा और मैं अब जेल की जिंदगी नहीं जीना चाहता हूं।

मृतक को रेप केस में 10 साल की जेल हुई थी

मध्यप्रदेश न्यूज़: जानकारी में बताया गया है कि मृतक पिछले कई दिनों से गरोठ जेल में बंद था और 29 जनवरी को उसे जिला जेल में लाया गया था। मृतक को रेप केस के मामले में 10 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी। किसी से परेशान होकर कैदी ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। कैदी का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया गया है। मृतक के परिजनों ने जेल प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा है कि जेल में जहरीला पदार्थ कहां से आ गया। परिजनों ने मामले की निष्पक्ष तरीके से जांच करने की मांग की है। पुलिस की टीम मामले की जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here