पत्नी को छोड़ा तो मनासा से समधी का अपहरण कर गरोठ ले गए, गरोठ पुलिस घर पहुची तो लोगों ने फेंके पत्थर

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले के गरोठ तहसील में एक अजिबो-गरीब मामला देखने को मिला है। यहां ऐसा हुआ कि मनासा के रहने वाले पति और गरोठ की रहने वाली पत्नी के बीच लड़ाई हो गई जिससे पत्नी मायके रहने लगी। इसके बाद पत्नी के परिवार वाले मनासा से समधी को उठा ले गए।


मध्यप्रदेश न्यूज़: मामला मध्यप्रदेश के गरोठ तहसील का है जहां समधी को गिरफतार करने के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके अलावा पुलिस जब मामला सुलझा ने पहुंची तो कुछ लोगों द्वारा पुलिस की गाड़ी पर पत्थरबाजी, वाहनों की तोड़फोड़ और शासकीय कार्य में बाधा डालने के कारण पुलिस ने 20 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ भी केस दर्ज किया है। गरोठ एएसपी महेंद्र तारणेकर ने बताया कि देथली बुजुर्ग निवासी गीता बाई का विवाह सन 2018 में नीमच जिले के मनासा निवासी शैतान कच्छावा के साथ हुआ था। शैतान मंदसौर के पिपलिया मंडी थाने में कॉन्स्टेबल के पद पर पदस्थ था। गीता और शैतान के बीच कुछ विवाद होने के कारण गीताबाई अपने मायके जाकर रहने लगी थी।गरोठ के गांव में समाज में पंचायत द्वारा न्याय की परंपरा चलाई जाती है। इस कारण दोनों परिवारों में वर्ष 2018 से रंजिश चल रही थी।

गीता के परिजन मनासा आए और 61 वर्षीय समधी को उठा ले गए

मध्यप्रदेश न्यूज़: बीते सोमवार की शाम को गीता के परिजन पाने के रास्ते होते हुए स्टीमर की सहायता से मनासा पहुंचे और मनासा से 61 वर्षीय समधी गोरेलाल को उठाकर अपने गांव देथली बुजुर्ग ले गए। अपहरण की सूचना मिलने पर मनासा पुलिस ने गरोठ पुलिस को मामले की सूचना दी। इसके बाद गरोठ पुलिस के 6 पुलिसकर्मी मौके से घटना स्थल पर पहुंचे लेकिन पुलिस की गाड़ी वहां पहुंचते ही ग्रामीणों ने पुलिस पर पत्थर फेंकना शुरू कर दिए। इसके बाद सूचना मिलने पर आसपास के 8 थानों का पुलिस बल वहां पहुंचा और जमकर हंगामा हुआ। पुलिस ने गोरेलाल को छुडवा लिया। पुलिस ने इसके बाद 20 अज्ञात और तीन नामजद आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने अभी तक 5 आरोपियों को राउंडअप भी किया है, जिसमें खड़ावदा के पूर्व सरपंच इंदर सिंह और मदन सिंह भी शामिल है। पुलिस के अनुसार इंदर सिंह पर पहले से 10 से अधिक केस दर्ज है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *