कृषि उपज मंडी मंदसौर में लहसुन की रिकॉर्ड तोड़ आवक, मंडी गेट से काबरा पेट्रोल पंप तक लगी 5 किलोमीटर की लाइन

0
39

मध्यप्रदेश न्यूज़: मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले की कृषि उपज मंडी मंदसौर में रविवार अवकाश के बाद कृषि उपज मंडी खुलने से सोमवार को लहसुन की रिकॉर्ड तोड़ आवक हुई। प्रदेश के कोने-कोने से किसान इतनी लहसुन लेकर पहुंचे की मंडी के बाहर 6 किलोमीटर तक वाहनों की कतारें लग गई।

New Update– सोमवार के दिन की 12:30 बजे तक कृषि उपज मंडी मंदसौर के बाहर ऐसी स्थिति हो गई थी मुख्य मार्ग के दोनों रास्ते जाम हो गए।  किसानों में नाराजगी दिख रही है लेकिन मंडी प्रशासन व्यवस्था नहीं सुधार पा रहा है।

मध्यप्रदेश न्यूज़: मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले की कृषि उपज मंडी में सोमवार को लहसुन की रिकॉर्ड तोड़ आवक हुई। सोमवार से पहले 2 दिनों तक कृषि उपज मंडी मंदसौर में अवकाश था, लेकिन जैसे ही सोमवार को मंडी खुली तो रात से ही मंडी प्रशासन को मंडी के गेट बंद करने पड़े और सुबह तक मंडी गेट के बाहर वाहनों की लंबी कतारें लग गई। बताया जा रहा है कि मंदसौर मंडी में लहसुन के भाव अच्छे मिलने के कारण प्रदेश के कोने-कोने से किसान लहसुन लेकर मंदसौर कृषि उपज मंडी पहुंच रहे हैं। मंडी प्रशासन ने बताया कि किसान रविवार को ही इतनी लहसुन लेकर मंडी पहुंच गए कि रविवार शाम को मंडी के गेट बंद करना पड़े और उसके बाद आने वाले सभी किसानों को मंडी के बाहर ही लाइन में लगना पड़ा। आज से पहले मंदसौर मंडी में इतने वाहनो की आवक कभी नहीं हुई।

किसानो को लहसुन के भाव अच्छे मिलने की उम्मीद


मध्यप्रदेश न्यूज: मंदसौर कृषि उपज मंडी शनिवार और रविवार को बंद थी। इससे पहले रोजाना कृषि उपज मंडी में 40000 बोरियों की आवक हो रही थी जिसमें गेहूं और लहसुन की सबसे अधिक आवक हो रही थी। इसके बाद सोमवार को जैसे ही मंडी खुली तो कृषि उपज मंडी से लेकर मंदसौर काबरा पेट्रोल पंप तक 6 किलोमीटर लंबी वाहन की कतार लग गई। यह अब तक की मंदसौर मंडी में रिकॉर्ड तोड़ रही है। वर्तमान में सभी किसानों के खेतों से लहसुन निकल चुकी है और कटाई का काम चल रहा है। किसानों को इस वर्ष लहसुन के भाव बढ़ने की उम्मीद नहीं है इसलिए सभी अपनी लहसुन को तुरंत बेचने के लिए मंडी लेकर आ रहे हैं। मंडी में लग रही वाहनों की कतारों को देख ऐसा लग रहा है कि आने वाले 2 दिनों तक किसानों को मंडी में जगह नहीं मिलेगी। पिछले कुछ महीनों से मंडी की व्यवस्था भी बिगड़ी हुई है क्योंकि यहां कलेक्टर के निर्देश पर चल रही है। मंडी प्रशासन की व्यवस्था है किसानों को समझ नहीं आ रही है। मंडी कमेटी को व्यवस्था सुधारनी ही पड़ेगी वरना धीरे धीरे कृषि उपज मंडी मंदसौर की पूरी व्यवस्था बिगड़ जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here