लापरवाही के कारण चिकित्सकों की सेवाएं निरस्त की 

डॉक्टरों की लापरवाही के कारण मंदसौर, नीमच और रतलाम के 9 चिकित्सकों की नौकरी चली गई। मंदसौर लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने कार्यवाही करते हुए 9 चिकित्सकों को अपनी ड्यूटी से हटा दिया है। 9 चिकित्सकों को स्वास्थ्य विभाग से हटा दिया गया है। इन चिकित्सकों में मंदसौर नीमच और रतलाम जिले के डॉक्टर शामिल है। जिनकी लापरवाही उजागर होने के बाद लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने चिकित्सकों की सेवाएं बंद कर दी है। मंत्रालय द्वारा जारी की गई सूची में प्रदेश के 94 चिकित्सकों का नाम है और पहले ही मंदसौर नीमच और रतलाम जिले में चिकित्सकों की कमी बनी हुई है। स्वास्थ्य विभाग में मंदसौर जिले से डॉक्टर कमलेश भगोरा को निरस्त कर दिया गया है। इसी के साथ नीमच और रतलाम जिले से भी डॉक्टरों को निरस्त किया गया है।

विवाद बड़े स्तर पर हड़कंप मचा रहा है

चिकित्सकों की ड्यूटी निरस्त होने के बाद विवाद बड़े स्तर पर पहुंच गया है और विभागों में हड़कंप मची हुई है। दरअसल स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 23 अगस्त 2021 और  21 सितंबर 2021 को मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग से चयन होने पर नियुक्ति आदेश जारी किए थे लेकिन निश्चित अवधि 1 माह में पदस्थापना संबंधितो ने ग्रहण नहीं की और मंत्रालय ने इसी के कार्यवाही करते हुए तत्काल नियुक्ति आदेश निरस्त कर दिए हैं। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सदस्य त्रिपाठी जी का कहना है कि यह आदेश मंत्रालय स्तर पर जारी किया गया है। संबंधित होने आदेश का पालन नहीं किया था इसलिए मंत्रालय ने नियुक्ति को निरस्त कर दिया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *