MP एक ही दिन में आए 308 कोरोना केस, इंदौर में स्थिति खतरनाक, आधे से अधिक केस नए वेरिएंट के आएं

0
30

 प्रदेश में तेजी से बढ़ रहें हैं कोरोना केस 2022

मध्यप्रदेश में कोरोना का फिर से विस्फोट हो गया है। पिछले 24 घंटों में मध्यप्रदेश में कोरोना के 308 नए मामले सामने आए हैं जिनमें से 137 मामले अकेले इंदौर से सामने आए हैं। एक साथ इतने के सामने आने से इंदौर की स्थिति भयानक हो गई है। इंदौर के प्रभारी मंत्री और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि इंदौर में विस्फोटक मामले सामने आए हैं जिनमें से आधे ओमि क्रोन तो आधे डेल्टा वेरिएंट के मरीज सामने आए हैं। प्रभारी मंत्री ने यह भी कहा है कि देश में दूसरी लहर घातक डेल्टा वेरिएंट ही लाया था जिसके कारण हजारों लोगों की मौत हो गई थी। अब कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1000 के पार हो गई है। इनमें सभी प्रकार के अधिकारी और डॉक्टर भी शामिल है।

इंदौर में कोरोना से एक मरीज की मौत भी हुई है

प्रदेश में कोरोना के सबसे अधिक मामले इंदौर में से ही सामने आए हैं जहां एक ही दिन में 137 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से एक मरीज की मौत भी हो चुकी है और 21 दिसंबर को भी 2 मरीजों की मौत हुई थी। इसके बाद भोपाल से 70 कोरोना के मरीज सामने आए हैं। भोपाल के इन मरीजों में आई ए एस ऑफिसर भी शामिल है। शहर में एक्टिव मरीजों की संख्या 200 होने वाली है। इनमें से 174 मरीजों को होम आइसोलेटेड किया गया है और गंभीर स्थिति वाले मरीजों को अस्पताल में भर्ती किया गया है। भोपाल में 3 सीआरपीएफ जवानों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव सामने आई है। प्रशासन ने उनकी ट्रैवल हिस्ट्री निकाल ली है और उनके टच में आने वाले लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं।

किस जिले से कितने संक्रमित सामने आए हैं

प्रदेश के ग्वालियर जिले में से 25 संक्रमित, जबलपुर में 21 संक्रमित, रतलाम में एक संक्रमित, उज्जैन में 9 संक्रमित, सागर में पांच संक्रमित, खंडवा में चार संक्रमित, शिवपुरी में छह संक्रमित सामने आए हैं। इसके अलावा प्रदेश के 2 बड़े शहरों भोपाल और इंदौर से 286 कोरोना के मामले सामने आए हैं जिनमें से 86 कोरोनावायरस के मामले 16 परिवारों में से सामने आए हैं। इसको लेकर इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि इंदौर में तेजी से संक्रमित ओं की संख्या बढ़ती जा रही है और अगर ऐसे ही कोरोना बढ़ता रहा तो इंदौर में पाबंदियां लगाने पड़ेगी। शादियों में मेहमानों की संख्या निश्चित रहेगी, कोई भी अब बड़ा कार्यक्रम नहीं कर रहा सकता है। कोरोना का नया वेरिएंट और डेल्टा वे जेंट्स दोनों ही तेजी से फैल रहे हैं। अगर लोग जागरुक नहीं हुए और यह दोनों वेरिएंट ऐसे ही फैलते रहे तो देश में तीसरी लहर आने की संभावना पूरी बढ़ जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here