ग्वालियर के अविनाश को 8000 किलोमीटर दूर रहने वाली फादवा की हुई शादी 2022

मध्य प्रदेश के ग्वालियर क्षेत्र से एक प्यार का रोचक मामला सामने आया है जिसमें प्रदेश के ग्वालियर में रहने वाले अविनाश को 8000 किलोमीटर दूर रहने वाली मोरक्को की लड़की से प्यार हो गया। मोरक्को की रहने वाली लड़की का नाम फादवा है। अविनाश और मोरक्को की लड़की की सर्वप्रथम सोशल मीडिया पर दोस्ती हुई थी और धीरे-धीरे वह दोस्ती प्यार में बदल गई। उसके बाद दोनों ने शादी करने का निर्णय लिया लेकिन उनके बीच दो देशों की संस्कृति और मजहब आगे आ गए। इसके बावजूद भी उनका प्यार खत्म नहीं हुआ और आखिरकार अविनाश ने मोरक्को की लड़की के पिता को शादी के लिए बोल ही दिया लेकिन फादवा के पिता अविनाश से उनकी बेटी की शादी करवाने के लिए मंजूरी नहीं दे रहे थे। अविनाश जब भी फादवा के पिता से शादी के लिए बात करता वह इनकार कर देते। लड़की के पिता ने शादी के लिए चार बार इंकार कर दिया था लेकिन उनकी बेटी भी अविनाश से शादी करने पर तुली हुई थी। 

फादवा के पिता ने अविनाश को मोरक्को बसने का ऑफर दिया

जब बार-बार मना करने के बाद भी उनकी बेटी नहीं मानी तो फादवा के पिता ने अविनाश को मोरक्को बसने का ऑफर दिया लेकिन यह ऑफर अविनाश को मंजूर नहीं था और अविनाश ने लड़की के पिता से कहा कि मैं ना ही देश बदल लूंगा और ना ही धर्म। मैं आपकी बेटी का भी धर्म परिवर्तन नहीं कराऊंगा। इसके बाद लड़की के पिता शादी के लिए तैयार हो गए। बताया गया है कि 8000 किलोमीटर दूर रहने वाली मोरक्को की मुस्लिम युवती फादवा उम्र 24 वर्ष ग्वालियर की एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी में मैनेजमेंट की पढ़ाई कर रही थी। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में रहने वाले अविनाश उम्र 26 जो ग्वालियर कंसलटिंग कंपनी में काम करने के साथ-साथ यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं उन्हें फादवा से सोशल मीडिया पर दोस्ती कर ली। इसके बाद इनकी दोस्ती प्यार में बदल गई और लड़की के पिता को मनाने के बाद दोनों ने एडीएम कोर्ट में शादी कर ली। अब वह दोनों रिसेप्शन भी देंगे। 

सोशल मीडिया पर उनकी दोस्ती प्यार में कैसे बदली

जब इसके बारे में ग्वालियर निवासी अविनाश से बातचीत की गई तो उसने बताया कि सर्वप्रथम सोशल मीडिया पर उसकी ओर मोरक्को की रहने वाली फादवा से फ्रेंडशिप हुई थी। इसके बाद वह दोनों रोजाना मैसेज और वीडियो कॉल पर बातचीत करते थे। इसके बाद उनकी दोस्ती प्यार में बदल गई। इसके बाद दोनों ने जीवन भर एक दूसरे का हाथ थामने का फैसला लिया और शादी करने पर विचार किया लेकिन उनके बीच 2 देशों की संस्कृति और दोनों धर्म बीच में आ रहे थे। अविनाश ने बताया कि जब दोनों ने शादी करने का निर्णय ले लिया तो अविनाश इसकी बात करने के लिए और लड़की के परिवार वालों से मिलने के लिए दो बार मोरक्को भी गया। लड़की के पिता ने शादी के लिए चार बार मना भी किया लेकिन जब दोनों ने शादी करने के लिए ठान ली तो उसके बाद लड़की के पिता अविनाश को भारत छोड़कर मोरक्को में रहने का अवसर दिया।

अविनाश का जवाब सुनकर लड़की के पिता शादी के लिए राजी हो गए 

जब लड़की के पिता ने अविनाश को मोरक्को रहने का अवसर दिया तो अविनाश में यह स्वीकार नहीं किया लेकिन अविनाश लड़की के पिता को कहा कि-” मैं ना ही अपना धर्म परिवर्तन करूंगा और ना ही अपना देश छोडूंगा” इसके बाद अविनाश ने लड़की के पिता को यह भी कहा कि मैं आपकी लड़की का भी धर्म परिवर्तन नहीं होने दूंगा। आपकी लड़की को भारत देश में अपना धर्म और अपनी परंपराए उसी तरह निभाने की आजादी रहेंगी जैसे वह मोरक्को में निभाती आ रही है। दंपत्ति ने बताया कि पहले मोरक्को से एन ओसी नहीं मिल रही थी लेकिन अब प्रकिया की जा चुकी है। इसके बाद 3 दिन पहले दोनों ने भारत की एडीएम कोर्ट में आवेदन कर दिया और दोनों ने अपने परिवार वालों के साथ पहुंचकर शादी कर ली। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *