नवोदय विद्यालय के 4 बच्चे बाउंड्री कूदकर सीतामऊ रात 1:00 बजे घूमते हुए पकड़ाए 2022

मंदसौर जिले के सीतामऊ क्षेत्र में स्थित जिले के लदूना नवोदय विद्यालय की घटना सामने आई है। जवाहर नवोदय विद्यालय लदुना से शनिवार की रात 4 विद्यार्थी स्कूल की बाउंड्री कूदकर बाजार भाग गए थे। चारों विद्यार्थी स्कूल से लगभग रात की 12:00 बजे निकले और 1:00 बजे तक खेतों वाले रास्ते से होकर 40 मिनट में सीतामऊ पहुंच गए।  करीब रात 1:00 बजे वहां बस स्टैंड सीतामऊ पर घूम रहे थे, तभी उन्हें सीतामऊ पुलिस ने संदिग्ध समझ कर पकड़ लिया। कोरोना महामारी के चलते सीतामऊ में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। इसके चलते रात को सड़कों पर घूमने वाले लोगों पर पुलिस कार्रवाई कर रही है। इसलिए पुलिस चारों विद्यार्थियों को पुलिस स्टेशन में लेकर चली गई। जब वहां पर उनसे पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि नवोदय विद्यालय लदुना के छात्र हैं और अगले दिन रविवार होने के कारण बाजार में घुमने आए थे।

पुलिस ने कहा: बाजार में नमकीन लेने आए थे 

पुलिस ने जब विद्यार्थियों को स्टेशन ले जाकर पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि वह स्कूल से भागकर सीतामऊ नमकीन लेने आए थे। जवाहर नवोदय विद्यालय लादुना में भी कोरोना महामारी के कारण सिर्फ मुख्य कक्षाएं दसवीं और बारहवीं की ही कक्षाएं लगाई जा रही थी। रात को बाजार में घूमते हुए पकड़ाए गए विद्यार्थियों में 2 विद्यार्थी कक्षा बारहवीं विनय डांगी और रवि परमार 2 विद्यार्थी कक्षा दसवीं यश पाटीदार और बंटी चंदेल थे। पुलिस द्वारा जब इनसे पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि वह रात को स्कूल से बाउंड्री कूद कर नमकीन लेने आए थे। सीतामऊ थाना टीआई दिनेश प्रजापति ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने विद्यार्थियों को संदिग्ध मानकर गिरफ्तार कर लिया था। पता चलने के बाद लदुना स्कूल के प्रिंसिपल को सूचना दी गई और बच्चों को स्कूल भेजा गया।

इस मामले पर लदुना विद्यालय के प्रिंसिपल का क्या कहना है

पुलिस द्वारा जब नवोदय विद्यालय के प्रिंसिपल को सूचना दी गई तो प्रिंसिपल द्वारा कहा गया कि स्कूल में ऐसा कोई नियम नहीं है कि बच्चे बाउंड्री कूदकर बाजार जा सकते हैं लेकिन इन बच्चों द्वारा नियमों का उल्लंघन किया गया है इसलिए उनके पालकों को मामले से अवगत कराया जाएगा। नियमों का उल्लंघन करने पर बच्चों को सस्पेंड करते हुए कुछ दिनों के लिए अगर भेजा जाएगा और स्कूल में स्टांप देने के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। लदुना नवोदय विद्यालय के प्रिंसिपल ने कहा है कि बच्चे इस प्रकार का कदम नहीं उठाए इसलिए रोजाना रात 9:00 बजे housemaster अपने-अपने हाउस में जाकर बच्चों को गिनते हैं और रोजाना बच्चों की हाजरी के लिए साइन भी करवाए जाते हैं। इसके अलावा स्कूल द्वारा बाउंड्री तक लाइट रखने के लिए हाउस के ऊपर बड़े-बड़े बल्ब भी लगा रखे हैं। इसके बावजूद भी बच्चे इस प्रकार से नियमों का उल्लंघन करते हैं। बाजार जाने वाले विद्यार्थियों पर उचित कार्यवाही की जाएगी।

बच्चे स्कूल के कुछ नियमों से खुश नहीं है

नाम नहीं बताने की शर्त पर जब नवोदय विद्यालय के कुछ विद्यार्थियों से घटना के बाद जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि लदुना नवोदय विद्यालय में कुछ ऐसे भी नियम बनाए गए हैं जिनसे बच्चे खुश नहीं है। नाम नहीं बताने की शर्त पर बच्चों ने बताया कि उन्हें उनके माता-पिता महीने में सिर्फ एक बार मिलने आते हैं और उसमें भी हाउस मास्टर मना कर देते हैं कि बच्चों को नमकीन नहीं लेकर आना है। कुछ दिनों पहले तो सुबह-सुबह चाय भी बंद कर रखी थी। इसके अलावा भी बहुत सारे ऐसे दबाव है जिन से बच्चे खुश नहीं है। स्कूल के बच्चों को खाने से संबंधित भी कुछ समस्याएं हैं लेकिन वह इसकी शिकायत नहीं कर पाते हैं। एक बच्चे ने नाम नहीं बताने की शर्त पर यह भी बताएं कि जब स्कूल से छुट्टी लेनी होती है तो शिक्षक पालकों को इधर-उधर घूमाते रहते हैं। शायद इसी कारण बच्चे स्कूल की बाउंड्री कूदकर बाजार जाते होंगे। प्रदेश के लगभग सभी नवोदय विद्यालयों में स्कूल के अंदर है एक छोटी किराना की दुकान रहती हैं ,लेकिन लदुना विद्यालय में एक भी दुकान नहीं है।

One thought on “मंदसौर: लदूना नवोदय विद्यालय से रात 1 बजे बाउंड्री कूदकर भागे छात्र, पुलिस ने पकड़ा तो बोले नमकीन लेने आए थे”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *