मंदसौर जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले 2022

मंदसौर जिले में कोरोना की रफ्तार लगातार की जा रही है। पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामले में अचानक तेजी आने के कारण मंदसौर प्रशासन ने कुछ प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए थे लेकिन उसके बाद में कोरोना की रफ्तार रुक नहीं रही है। हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक मंदसौर जिले में पिछले चौबीस घंटों में 15 कोरोना के मामले सामने आए हैं। इसी के साथ मंदसौर जिले में एक्टिव मामलों की संख्या 30 के पार जा चुकी है। तीसरी लहर चलने के बाद मंदसौर जिले में अभी तक 60 कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं। सीएमएचओ कार्यालय में जानकारी देते हुए बताया कि मंदसौर प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य विभाग को आदेश दिए गए हैं कि शहर के मुख्य चौराहों पर रास्ते पर बिना मास्क बनाने जा रहे लोगों को रोककर उनके सैंपल लेने हैं। इसी के साथ सीएमएचओ कार्यालय ने आंकड़े भी बताएं हैं जिसमें कोरोना लगातार बढ़ ही रहा है।

655 सैंपल टेस्टिंग में 15 की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई

सीएमएचओ कार्यालय से जानकारी मिली है कि बीते कल स्वास्थ्य विभाग द्वारा विभिन्न स्थानों से लिए गए 655 सैंपल टेस्टिंग में 15 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। यह तीसरी लहर में एक ही दिन में आने वाले मरीजों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। पॉजिटिव पाए गए मरीजों में मंदसौर शहर के 6 मरीज, मल्हारगढ़ तहसील में दो, नारायणगढ़ क्षेत्र में 1, पहेडा़ में 2, रिछा लालमुहा में 2, सुवासरा में 1 और भानपुरा में 2 मरीज सामने आए हैं। इसी के साथ तीसरी लहर में कुल 60 मरीज सामने आ चुके हैं जिसमें से 30 मरीजों को स्वस्थ कर आइसोलेशन से डिस्चार्ज कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा रोजाना लोगों के सैंपल ले रहीं हैं और पाज़िटिव आने वाले मरीजों को घर जाकर क्वारंटाइन किया जा रहा है और गंभीर स्थिति वाले मरीजों को अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है।

प्रतिबंधात्मक आदेश लागू हुए, लेकिन पालन नहीं हो रहा 

कोरोना की रफ्तार को देखते हुए प्रशासन द्वारा कोरोना की नई गाइडलाइन जारी की गई थी लेकिन उसका सही प्रकार से पालन नहीं हो रहा है और प्रशासन भी किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं कर रहा है। नई गाइडलाइन में प्रशासन द्वारा निर्देश दिए गए थे कि शादी समारोह में ढाई सौ से ज्यादा की अनुमति नहीं रहेगी लेकिन जिले में हो रही शादियों में पड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं। इसके अलावा शव यात्रा में भी लोगों की संख्या दिए गए निर्देश से अधिक ही आ रही है। पहले की तरह अभी भी सार्वजनिक कार्यक्रम किए जा रहे हैं लेकिन प्रशासन किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं कर रहा है। प्रशासन की यही लापरवाही जिले में भयानक स्थिति पैदा कर सकती हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *