दिल्ली में कोरोना का दर बढ़ता ही जा रहा है। दिल्ली में फिर से बजी कोरोना की गंटी, मुम्बई में फिलहाल राहत। 


देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के केस बढ़ते ही जा रहे है। दिल्ली में स्थति विस्पोर्ट बनी हुई है। वहा पर संक्रमण दर बढ़ता ही जा रहा है। वही मुम्बई में कुछ मामले अब कम पड़े है। टेस्टिंग को लेकर अभी भी सवाल है।

देेश में बढ़ता कोरोना का कहर


दिल्ली में दिन बे दिन केस बढ़ते ही जा रहे है। देश मे कोरोना के मामले अब दिन में लाख के पार चल रहे है। इस बीमारी ने देश मे ताबड़तोड़ चिंता बड़ा रखी है। लेकिन दिल्ली और मुम्बई दोनों महानगर कोरोना के सबसे बड़े हाटस्पोर्ट बने। पिछले कुछ दिनो से इन दोनों महानगर में रेस चल रही है।

मुम्बई में कोरोना मीटर पड़ा धीमे

 अब ये रेस धीरे हो गई है। मुम्बई में मामले पिछले 2 दिनों से कम पड़ते जा रहे है। मुम्बई में पिछले 24 घण्टो में 13648 नए मामले सामने आए। यह बहुत अच्छा माना जा रहा है कि पिछले 24 घण्टो में बड़ी गिरावट आई है। आंकड़े भी बताते हैं कि पिछले तीन दिनों से लगातार मुंबई का कोरोना ग्राफ नीचे की तरफ गया है.

09 जनवरी -13648

08 जनवरी- 20318 

07  जनवरी- 20971 

06 जनवरी- 20181

05 जनवरी- 15166

04 जनवरी- 10860

03 जनवरी- 8082

02 जनवरी- 8063

01 जनवरी- 6347

हिमाचल के आंकड़ों ने डराया

इन राज्यों के अलावा हिमाचल प्रदेश ने भी कोरोना के मामले में रफ्तार पकड़ ली है। वहां एक ही दिन में मामले तीन गुना तक बढ़ चुके है। पांच लोगों ने अपनी जान भी गंवा दी है. इस सयम एक्टिव केस 22 हजार 477 हो गए हैं. 

दिल्ली में कोरोना स्थति बे काबू

दिल्ली में कोरोना का दर बढ़ता ही जा रहा है। मुम्बई में तो भी कोरोना का दर काम है लेकिम दिल्ली में कम होने का नाम नही हो रहा है। इस समय दिल्ली में 25 प्रतिशत पाजिटिविटी रैट हो गया है। टेस्ट कराने वाले हर चौथा शख्स कोरोना पॉजिटिव निकल रहा है। पिछले 24 घण्टे में दिल्ली में 19166 नए कोरोना के केस सामने आए है, वही 17 लोगो ने अपनी जान भी गवाई है।

लेकिन दिल्ली को लेकर कहा जा रहा है कि जनवरी के अंतर तक स्थिति भयंकर हो सकती है। तब राजधानी में कोरोना अपनी पीक पर हो सकता है और रोज के मामले 50 से 60 हजार तक टच कर सकते है। ऐसे में दिल्ली को अभी कोरोना से राहत नहीं मिलने वाली है और अगले पांच दिन सबसे ज्यादा अहम माने जा रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *