चलती बस के नीचे लेट गया व्यक्ति, कमर पर चढ़ा पिछला टायर फिर भी जिंदा है, उसके अंकल बोले पब्जी खेलता रहता था

0
15

 चलती बस के नीचे लेटा युवक, पिछला टायर शरीर पर चढ़ा लेकिन फिर भी जान बची 2022

मध्य प्रदेश के दमोह से एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। प्रदेश के दमोह में बस स्टैंड पर एक व्यक्ति चलती बस के नीचे लेट गया और उसकी कमर पर बस का पिछला टायर भी चढ़ गया लेकिन व्यक्ति अभी भी जिंदा है। वीडियो को देखकर ऐसा लग रहा है कि व्यक्ति किसी कारणवश बस के नीचे लेट कर आत्महत्या करना चाहता था। बताया गया है कि व्यक्ति बस के नीचे अचानक लेट गया और बस का पिछला टायर उसके ऊपर से निकल गया लेकिन उसके कुछ भी नहीं हुआ और व्यक्ति की जान बच गई। घटना के बाद लोगों द्वारा व्यक्ति को जिला अस्पताल भर्ती करवाया गया और डॉक्टर द्वारा व्यक्ति की तबीयत सामान्य बताई जा रही है। शनिवार को हुई यह घटना बस स्टैंड पर स्थित दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई जिसका वीडियो आज सामने आया है। व्यक्ति की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। 

व्यक्ति के परिजनों ने कहा- वह मानसिक रूप से बीमार चल रहा है

घटना की जानकारी लेते हुए जब व्यक्ति के परिजनों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि अभी कुछ दिनों से मानसिक रूप से बीमार चल रहा है। पुलिस में जानकारी प्राप्त की तो पता चला कि व्यक्ति का नाम नितेश सेन है। बस की चपेट में आने वाला व्यक्ति नोएटा का रहने वाला है। दरअसल हुआ यह कि व्यक्ति बस स्टैंड पर एक दुकान के सामने अपनी धुन में खड़ा था और बस स्टैंड से एक बस रवाना हो रही थी। रास्ता साफ देख बस का ड्राइवर बस को ले जा रहा था लेकिन जैसे ही बस व्यक्ति के सामने से गुजर रही थी तब अचानक पिछले टायर के वहां पर व्यक्ति दौड़ कर लेट गया और बस उसके ऊपर निकल गई। घटना होते ही बस स्टैंड पर लोगों की भीड़ जमा हो गई और लोग बस ड्राइवर की गलती निकालने लगे लेकिन जब सीसीटीवी कैमरे का वीडियो सामने आया तो मामले का खुलासा हुआ। व्यक्ति के परिजनों ने कहा कि वह शुक्रवार से ही घर से भाग गया था और गायब चल रहा था। 

व्यक्ति के अंकल ने कहा- मानसिक रूप से बीमार है और दिनभर पब्जी खेलता रहता है

अस्पताल में उपचार के दौरान जब व्यक्ति के चाचा से जानकारी ली गई तो उसके चाचा नरेंद्र सेन ने बताया कि उनका भतीजा कुछ दिनों से मानसिक रूप से बीमार चल रहा है और दिन भर ऑनलाइन गेम पब्जी खेलता रहता है। काफी समय से उसका इलाज भी करवाया जा रहा है और वह आए दिन ऐसी चौंकाने वाली हरकतें करता रहता है। अभी भी ऐसा ही हुआ कि 2 दिनों पहले वह घर से गायब हो गया था। उसके परिजनों को लगा कि आसपास कहीं घूमने गया होगा और जब उसको कॉल किया तो उसने बताया कि वह बांदकपुर में है। जब कुछ समय बाद दोबारा फोन लगाया तो उसने बताया कि वह जबलपुर चला गया है और ऐसे थोड़ी थोड़ी देर में वह अपने स्थान बदल रहा था। उसके परिवार वालों को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि उसका पता कैसे लगाया जाए लेकिन सुबह ही पुलिस द्वारा सूचना प्राप्त हुई की उनका भतीजा जिला अस्पताल में भर्ती है तो उसके परिजन तुरंत वहां पहुंच गए। गलती व्यक्ति की ही है कि उसने बस के नीचे लेट कर खुदकुशी करने की कोशिश की है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here