कीशोरपुरा गवशाला में चारा पानी की व्यवस्था नही, अब तक 40 गाय गवशाला में भूख प्यास से मर गई ।

कीशोरपुरा गवशाला में 40 गाय भूख प्यास के अभाव में है, वही गवशाला वालो के पास 60 बीघा संचित जमीन होने के बावजूत भी उनको सही से चारा नही मिल पा रहा है और नही पर्याप्त पानी की व्यवस्था है। गांव वालों का कहना है कि गवशाला के पूर्वाध्यक्ष ने जमीन किसी को लीज पर दे रखी है। जिसपर वो उसकी फसल की बुआई कर रहा है। इस मामले को लेकर कही बार गांव वाले केबिनेट मंत्री के पास भी गए है। लेकिन केबिनेट मंत्री कभी भी गवशाला का स्तानीय मुआवना करने नही गए और नही करवाई की गई। गांव के लोग अब गवशाला में देख भाल कर रहे है।

लोगो का कहना है कि गवशाला की स्थति बहुत ही खराब थी। जब तक लोगो को गवशाला की खबर मिली तब तक 25 गाय मर चुकी थी। उसके बाद लोगो ने अपना मानवता धर्म समझते हुए गवशाला में सेवा करने का निर्णय लिया। लोगो ने कैबिनेट मंत्री को भी कही बार बताया कि गाय मर रही है गवशाला में चारे की कमी के कारण।

अर्जुन पाटीदार जाच अधिकारी ने बताया कि चार की कमी से गवमाता दम तोड़ राही है। जबकि इन्होंने अधियक्ष महुदय को 1 तरिकब को कहा की अगर चारा नही मिला और आप काली फलियो वाली सोयाबीन का चारा ही खिलाएंगे तो गायो की म्रत्यु बल्क में होगी एक दिन। उसके बाद 4-5 तारीख तक गांव वालों को पता चला कि यहा गाय की मरने की संख्या दिन बे दिन बढ़ती ही जा रही है तो गांव वालों ने गवशाला में सेवा करने का निर्णय लिया। 

मंदसौर जिले के सुवासरा विधानसभा क्षेत्र के किशोरपुरा गांव के गवशाला में पहले के मुकाबले अब बहुत कम गाय बची हुई है। पहले वह 500 से अधिक गाय हुवा करती थी लेकि अब चारे की कमी के कारण अब वहां 100 से भी कम गाय बची रह गई है। वह पर पानी की व्यवस्था भी सही से नही हो पा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *