पुलिस ने दो मूली से भरी पिकअप पकड़ 2021

मनासा पुलिस ने रात को संदेह के आधार पर 2 पिकअप को रोककर उनकी तलाशी ली थी। तलाशी लेने पर पुलिस को बड़ी मात्रा में यूरिया खाद का अवैध रूप से परिवहन करते पाया गया था। पुलिस ने पिकअप ड्राइवर को हिरासत में लिया और पूछताछ कर यूरिया खाद से भरी पिकअप को कृषि विभाग को सौंप दिया। मामले में एसआई फतेह सिंह आंजना ने जानकारी देते हुए बताया कि संदेह के आधार पर पकड़ी गई पिकअप चालकों से पूछताछ में यूरिया मनासा के नीमच नाका स्थित नानालाल डांगी की दुकान से खरीद कर राजगढ़ जिले की जीरापुरा ले जाना बताया।

आरोपियों के पास यूरिया खरीदी का कोई बिल नहीं था

पुलिस द्वारा पिकअप चालकों से पूछताछ की गई तो अपना नाम सत्यनारायण पिता मान सिंह निवासी टूटियाहेडी माचलपुर उम्र 26 वर्ष, कृष्णपाल पिता शंकर सिंह राजपूत निवासी बांग पुरा जीरापुरा उम्र 35 वर्ष एवं सुनील पिता बद्रीलाल बैरागी निवासी टूटियाहेडी माचलपुर उम्र 20 वर्ष जिला राजगढ़ बताया है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों के पास यूरिया खरीदी का कोई बिल भी नहीं था। पुलिस ने तहसीलदार एम एल वर्मा को जानकारी देकर वाहन कृषि विभाग को सौंप दिया। सूचना के 2 घंटे बाद विभाग ने संज्ञान लेकर कार्रवाई के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति कर ली।

प्रशासन का कालाबाजारी पर ध्यान नहीं, मामले में दुकानदार को बचाते दिखे अधिकारी

जिले में वर्तमान में यूरिया की कालाबाजारी तेजी से चल रही है। किसानों को पर्याप्त मात्रा में सूर्य नहीं मिलने पर परेशान हो रहे हैं। मामले में भी पुलिस में 2 पिकअप यूरिया खाद भरा हुआ जब तक यह है लेकिन प्रशासन भी इस पर ध्यान नहीं दे रहा है। कृषि विभाग में भी इतनी बड़ी मात्रा में यूरिया खाद की कालाबाजारी करने वाले दुकानदार पर कोई कार्यवाही नहीं की है बल्कि अधिकारी दुकानदार को बचाते नजर आए हैं। सरकार यूरिया किल्लत एवं कालाबाजारी से निपटने के लिए सख्त कदम उठा रही है वहीं कृषि विभाग के अधिकारी कालाबाजारी पर कार्यवाही की बात कर रहे हैं और दूसरी तरफ विभाग दोहरे मापदंड दिखा रहा है। जिला अधिकारी से चर्चा करने पर उन्होंने अजीबोगरीब जवाब भी दिए। उन्होंने कहा कि बरामद की गई पिकअप से यूरिया को दुकान पर खाली करवाकर कर्मचारियों की उपस्थिति में बेचा जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *