मंदसौर जिले में बिन मौसम बारिश से किसानों की फसलों को हुआ नुकसान 2021

मौसम विभाग ने मंदसौर जिले में बारिश की चेतावनी साल के आखिरी दिन दी थी लेकिन 2 दिनों पहले ही जिले में हवा के साथ तेज बारिश हो गई। पाकिस्तान से आ रही नमी भरी हवाओं के कारण अचानक मौसम में बदलाव आया था और उत्तर भारत में बारिश हुई। इसके साथ-साथ ठंड की ठिठुरन बढ़ गई है। ठंड के मौसम में एक बार फिर मंदसौर जिले में अचानक बदलाव आया और वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण मंगलवार रात को अचानक रिमझिम बारिश हुई और तेज हवाओं का दौर जारी रहा। बेमौसम हो रही बारिश में अचानक ठंड की ठिठुरन बढ़ा दी है। मंगलवार को बारिश के साथ साथ दिनभर बादल छाए रहे और बिल्कुल भी धूप नहीं निकली। बारिश के चलते तापमान में भी बड़ी गिरावट देखने को मिली है।

लोगों को छाता और रेनकोट लेकर निकलना पड़ा घरों से बाहर

रात से शुरू हुई बारिश दिन तक चलने के कारण जिले के लोगों को छाता और रेनकोट लेकर घर से बाहर निकलना पड़ा। इसके साथ ही तापमान में भारी गिरावट आ गई और लोगों को दिन में ही अलाव का सहारा लेना पड़ा। ठंड के मौसम में लोगों को गर्म कपड़ों के साथ-साथ रेनकोट और छाता लेकर बाहर निकलना पड़ रहा है। कुछ दिनों पहले मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए बताया था कि साल के अंतिम दिन में बारिश हो सकती है। इसके बाद मंगलवार को तेज बारिश भी हुई। हालांकि अगले दिन फिर से धूप निकल आई। जानकारी में बताया गया है कि रात का तापमान बारिश होने से 7 डिग्री सेल्सियस तक चला गया था।

तेज हवाओं के साथ बारिश होने से किसानों की फसलों को नुकसान 

जिले में अचानक बिन मौसम बारिश होने से किसानों की फसलों को काफी नुकसान हुआ है। किसानों का कहना है कि बारिश के साथ तेज हवा चलने से फसले खेतों में सो गई है। मंदसौर जिले के भानपुरा गरोठ साइड किसानों की फसलों को अधिक नुकसान हुआ है और मंदसौर में रिमझिम बारिश होने के कारण ज्यादा नुकसान नहीं देखा गया है। मौसम विभाग ने जानकारी देते हुए कहा है कि आने वाले दिनों में ठंड और बढ़ सकती है और लोगों को ठंड की ठिठुरन के बीच ही न्यू ईयर मनाना पड़ेगा। मौसम विभाग ने बताया है कि आने वाले हैं 3 दिनों में तापमान में और गिरावट देखने को मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *