न्याय के लिए बरखेड़ा पंथ का किसान बैलगाड़ी लेकर मंदसौर पहुंचा 2021

मंदसौर बरखेड़ा पंथ का किसान न्याय मांगने के लिए अपने परिवार को लेकर बैलगाड़ी से ऑफिस पहुंच गया। किसान अपने गांव बरखेड़ा पंथ से न्याय यात्रा लेकर बैलगाड़ी में अपने परिवार सहित कलेक्ट्रेट पहुंच गया। जानकारी में पता चला है कि किसान ने आरोप लगाया है कि उनकी जमीन पर कैलाश पिता लक्ष्मीनारायण नाम के व्यक्ति ने वेयर हाउस निर्माण कर लिया और उसकी 200 स्क्वायर फीट जमीन पर अवैध कब्जा कर लिया। जब किसान द्वारा इसका विरोध किया गया तो कैलाश पिता लक्ष्मीनारायण ने किसान से विरोध कर लिया और झगड़ा करने की कोशिश करने लगा। इसके बाद परेशान किसान ने बैलगाड़ी से मंदसौर पहुंचकर न्याय की मांग की।

किसान लंबे समय से अधिकारियों के चक्कर लगा रहा है

पीड़ित किसान ने बताया कि इस मामले से छुटकारा पाने के लिए लंबे समय से अधिकारियों के चक्कर लगा रहा है। जब किसान को अधिकारियों के चक्कर लगाते लगाते समय हो गया तो वह परिवार के साथ सीधे कलेक्ट्रेट पहुंच गया और न्याय की मांग करने लगा। अधिकारियों से जब इस मामले के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कार्यवाही कर आरोपी को स्टे ऑर्डर और अवैध कब्जा हटाने का निर्देश दे दिया गया था। इसके बावजूद भी प्रशासन किसान को न्याय नहीं दिलवा पा रहा है। कलेक्टर ऑफिस पहुंचकर किसान ने पत्र लिखकर न्याय की मांग की और एसडीएम और अधिकारियों ने किसान को न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया। एसडीएम ने किसान को आश्वासन दिया कि आरोपी पर कार्रवाई की जाएगी।

सुबह 6:00 बजे ही बैलगाड़ी से निकल गया किसान

न्याय की मांग को लेकर किसान अपने गांव से सुबह 6:00 बजे ही बेल गाड़ी लेकर मंदसौर के लिए रवाना हो गया था। किसान ने बताया कि कलेक्टर ऑफिस पहुंचकर वह जनसुनवाई में पहुंचे। किसान ने बताया कि उसका पूरा परिवार से खेती पर ही निर्भर है वेयरहाउस संचालक ने अपनी गुंडागर्दी बताकर उनकी जमीन पर दीवाल बना ली। किसान ने तहसीलदार से इसकी शिकायत करवाई तो ऐसी लाल कार्रवाई भी की थी लेकिन उसके बावजूद भी वेयर हाउस संचालक ने किसान की जमीन पर दीवाल बनवा दी। इसके बाद किसान कलेक्टर ऑफिस पहुंचा जहां से अधिकारियों द्वारा किसान को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया गया और जगह दिलाने का वादा किया। एसडीएम ने दोबारा अधिकारियों को कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *