मंदसौर: ऑपरेटर के अभाव में धूल खा रहा 55 लाख का ऑक्सीजन प्लांट, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दी श्रद्धांजलि

 नारायणगढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का ऑक्सीजन प्लांट धूल खा रहा है 2021

कोरोना महामारी की दूसरी लहर आने के दौरान जिले में कई स्थानों पर आक्सीजन प्लांट बनाएं गए थे। इनमें से बहुत सारे प्लांट चालू हो गए और बहुत के काम अटके हुए हैं। जिले के नारायणगढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 55 लाख रुपए की लागत में बना ऑक्सीजन प्लांट सिर्फ ऑपरेटर की कमी के कारण धूल खा रहा है। कांग्रेसमें इसका विरोध भी किया। ऐसी व्यवस्था पर व्यंग कसने के लिए कांग्रेस ने नारायणगढ़ जिला चिकित्सालय पहुंचकर ऑपरेटर के अभाव में बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांट पर माला चढ़ाई। इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने 2 मिनट का मौन भी रखा और ऑक्सीजन प्लांट को श्रद्धांजलि भी दी।

कांग्रेस ने प्रदेश के वित्त मंत्री पर भी आरोप लगाया है

कांग्रेस ने प्रदेश के वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा का आरोप लगाते हुए कहा है कि वित्त मंत्री के क्षेत्र में अगर ऑक्सीजन प्लांट का यह हाल है तो फिर पूरे प्रदेश में क्या हाल हो रहे होंगे। नारायणगढ़ जिला चिकित्सालय का ऑक्सीजन प्लांट बनने के बाद कुछ दिनों तक चला और फिर ऑपरेटर के अभाव के कारण यह बंद ही पड़ा है धूल खा रहा है। कांग्रेसमें कहा है कि अभी खतरा पूरी तरीके से टला नहीं है क्योंकि दुनिया में फिर से कोरोनावायरस के नए वेरिएंट ने दस्तक दे दी है। प्रदेश में भी कोरोना की किसी लहर को लेकर नई गाइडलाइन जारी की जा रही है।

14 वर्ष की बालिका को करना पड़ा था रैफर

जिला कांग्रेस महामंत्री रामचंद्र करुणा ने बताया कि जिले में कभी भी ऑक्सीजन की कमी पड़ सकती है इसलिए प्लांट को चालू रखना अति आवश्यक है। पिछले दिनों जिले में चिकित्सालय में 14 वर्ष की मासूम बच्ची को ऑक्सीजन की कमी के कारण दूसरी जगह रेफर करना पड़ा था। ऑक्सीजन प्लांट में टैंकर का मीटर भी बता रहा है कि प्लांट में बिल्कुल भी ऑक्सीजन नहीं है। यहां पर सिर्फ ऑपरेटर नहीं होने के कारण पूरा प्लांट तू ही खा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *