मंदसौर: 38 घंटे बाद रेतम नदी में मिला किशोर का शव, चक्का जाम करने वाले 14 लोगों पर पुलिस ने किया मामला दर्ज

 

नदी में डूबे बच्चे का मिला शव 2021

पिपलिया मंडी इलाके के जारवा नदी में डूबा किशोर का शव 3 दिनों बाद लंबे इंतजार में मिला है। रेस्क्यू टीम 3 दिनों से किशोर को ढूंढ रही थी और 38 घंटे बाद उसका शव मिला है। किशोर का शव नदी में जब ऊपर तैरता हुआ दिखाई दिया तो उसे बाहर निकाला गया। 2 दिनों तक किशोर का शव नहीं मिलने के कारण परिजनों ने रोड पर चक्का जाम कर दिया था और सुबह से लेकर रात तक प्रदर्शन जारी था। प्रशासन ने बच्चे को ढूंढ लिया है और चक्का जाम करने वाले 14 लोगों पर मामला दर्ज किया है जिसमें परिजन और कुछ कांग्रेसी नेता भी शामिल है। नारायणगढ़ पुलिस ने बच्चे के शव का पोस्टमार्टम करवाकर किशोर का शव परिजनों को सौंपा।

भैंस के साथ नदी पार कर रहा था बालक

बच्चा 3 दिन पहले अपनी भैंस के साथ नदी पार करते हुए उसमें डूब गया था। बताया गया है कि दो भाई अपनी भैंस के साथ नदी पार कर रहे थे और उसमें से एक का पांव किसी जलीय जीव ने खींच लिया था और वह नदी में डूब गया था। गांव वालों ने सूचना पुलिस को दी और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बच्चे की तलाश शुरू कर दी थी जो 3 दिनों में सफल हुए और बच्चे की लाश मिल गई। जब पुलिस को 2 दिनों में बच्चे का शव नहीं मिला तो ग्रामीणों और कुछ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने पिपलिया मंडी मनासा मार्ग पर चक्का जाम कर दिया था और 5 घंटे तक प्रदर्शन किया था।

कांग्रेसी नेता सहित 14 लोगों पर किया गया प्रकरण दर्ज

विकास का शव सुबह नदी में 6:00 बजे तैरता हुआ दिखाई दिया। उसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर विकास के शव को बाहर निकाला। इधर नारायणगढ़ पुलिस ने चक्का जाम करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। परिजनों और कांग्रेस नेताओं ने पिपलिया मंडी मनासा मार्ग पर चक्का जाम करते हुए प्रदर्शन किया था। पुलिस ने नेता श्यामलाल जाकचंद, सुनील दीवानिया, दिनेश गुप्ता, आनंद उपले, राहुल धनगर, नरसिंह नायक, हेमंत तिवारी, राहुल कथरिया, विनय कूमठ, श्याम लाल माली, रामदयाल धनगर, मनीष साहू, राजेश भारती, समेत 14 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *