मंदसौर: जिला अस्पताल में डॉक्टर नर्स के विवाद में गई 13 साल की बच्ची की जान , तेवर दिखाने वाली नर्स बर्खास्त

 

कलेक्टर ने तेवर दिखाने वाली नर्स को किया बर्खास्त 2021

मंदसौर जिला चिकित्सालय में डॉक्टर और नर्स के बीच विवाद में एक मासूम बच्ची की जान चली गई। कलेक्टर ने तेवर दिखाने वाली नर्स को बर्खास्त कर दिया है। कलेक्टर ने सख्त कार्रवाई करते हुए डॉक्टर और नर्स को नोटिस जारी किया है और लापरवाही बरतने वाली नर्स पूजा चौकसे को निलंबित कर दिया है। कलेक्टर गौतम सिंह डॉ घनश्याम पाटीदार को नोटिस जारी किया है। कलेक्टर गौतम सिंह ने कहां है कि यह एक गंभीर लापरवाही है। ऐसी घटना से प्रशासन को शर्मिंदा होना पड़ रहा है। डाक्टर और नर्स की लापरवाही से एक मासूम की जान चली गई। इसे काफी गंभीर लापरवाही कहां जाना चाहिए क्योंकि एक मासूम की जान चली गई है।

लंबे समय से चल रहा था डॉक्टर और नर्स के बीच विवाद 

जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन डॉ डीके शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि स्टाफ नर्स पूजा और डॉक्टर घनश्याम पाटीदार के बीच पहले से ही विवाद चलता आ रहा था। मामले में सारी गलती स्टाफ नर्स की साफ नजर आ रही है लेकिन फिर भी सिविल सर्जन डॉक्टर उनका बचाव करते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब स्टाफ नर्स ने डॉ पाटीदार को खुद फोन लगाकर बुलाया तो वह इलाज करने से कैसे मना कर सकते हैं। जबकि मासूम के परिजनों ने खुद जाकर डॉक्टर घनश्याम पाटीदार को बच्ची के इलाज के लिए बुलाया था। जब बच्ची की सभी रिपोर्ट आई तो नर्स ने उसके 20 मिनट बाद डॉक्टर को कॉल करके बुलाया था। नर्स और डाक्टर के बीच पहले से ही विवाद चलने के कारण और दोनों की लापरवाही के कारण बच्ची को समय पर उपचार नहीं मिला और उसकी जान चली गई।

पूरा मामला- आखिर जिला अस्पताल में क्या चल रहा था

बच्ची के परिजन कन्हैयालाल राठौर निवासी मंदसौर ने बताया कि उनकी बच्ची को अचानक सिर दर्द हुआ था। उसके बाद परिजन अपनी बच्ची को लेकर निजी अस्पताल पहुंचे। जब वहां पर सुधार नहीं दिखा तो परिजन अपनी बच्ची को लेकर जिला चिकित्सालय मंदसौर पहुंचे। यहां पर लड़की की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई और वह बेहोश हो गई इसके बाद उसे महिला वार्ड में भर्ती किया गया। यहां बच्ची का इलाज डॉ राकेश पाटीदार ने किया। यहां पर उसका तेज सिर दर्द होने लगा। बच्चे का ब्लड प्रेशर भी 200 के पार पहुंच गया था। इसके बाद डॉक्टर रोहित हरगौड को काल किया गया। परिजनों ने इस पर इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी दे रहे डॉ घनश्याम पाटीदार को बुलाया। डॉ घनश्याम पाटीदार जब लडकी को देखने पहुंचे तो नर्स ने उन्हें इंकार कर दिया।इस दौरान बच्ची ने दम तोड़ दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *