बच्चा पकड़ने वाले गिरोह का हुआ पर्दाफाश 2021

सिंगरौली तहसील के रतनगढ़ क्षेत्र में एक छोटे से कस्बे से खबर सामने आई है कि गांव वालों ने एक पकड़ने वाली टीम  पर्दाफाश किया है। बीते दिनों गांव वालों ने बच्चा चुराने में नाकाम हुए गिरोह का पर्दाफाश किया है। यह सब तब सफल हो पाया जब राजस्थान में एक व्यक्ति बच्चा चुराने के प्रयास में पकड़ा गया था। वह व्यक्ति बच्चा चुराने की कोशिश कर रहा था और गांव वालों ने उसे पकड़ लिया।सीमावर्ती राजस्थान के बेगू थाना अंतर्गत आने वाले गांव बागपुरा के लोगों ने मंगलवार शाम जब बच्चा चोर गिरोह में शामिल एक व्यक्ति को पकड़ा तो उसने पिछले दिनों रतनगढ़ से अभी एक बच्चे को बहला-फुसलाकर ले जाना स्वीकार किया है।

बच्चा चोरों के हाथों से भाग निकला

हालांकि बच्चा चोरों के हाथ नहीं लगा और वह मौके से भाग निकला। जोर से पूछताछ करते हुए ग्रामीणों ने उसका एक वीडियो भी बनाया है जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल भी हो रहा है। वीडियो में आरोपी खुद को तहसील क्षेत्र के गांव बाणदा का होना बता रहा है और स्वीकार भी कर रहा है कि वह बच्चा चोर गिरोह में शामिल था। वीडियो में आरोपी ने तहसील के 2 लोगों की और गिरोह में शामिल होने की जानकारी दी है। इसके अलावा आरोपी ने जानकारी दी है कि वीरों ने एक बच्चा चुराकर राजस्थान कोटा में ₹800000 में बेच भी दिया है। इसके बाद गांव वालों ने आरोपी को पुलिस को सौंप दिया।रतनगढ़ वाले बच्चे को पकड़ने की कोशिश की थी लेकिन वह उनके हाथों से भाग आया था इसलिए वहां पर कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई थी।

गांव ताल वासियों ने बच्चा चोर के आरोप को बताया झूठ

राजस्थान के करीब गांव बागपुरा में बच्चा चोरी करते हुए पकड़े गए व्यक्ति द्वारा अपने गिरोह में शामिल दो और व्यक्तियों का नाम बताया गया है लेकिन इस बात को ताल गांव के निवासी गलत बता रहे हैं। तालगांव के वासियों ने अपने ऊपर हमले की आशंका के चलते ज्ञापन सौंपा है।बुधवार रात करीब 8:00 बजे नगर पहुंचे ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि उनके गांव के लोग दूर-दूर तक मजदूरी करने जाते हैं। ऐसे में अगर बच्चा चोरी करने में गांव का नाम आता है तो लोग उन्हें आशंका की नजर से देखेंगे। उन्हें हमले का डर सताएगा। ग्रामीणों का कहना है कि पकड़े गए आरोपी ने जिन दो व्यक्तियों का नाम बताया है वह इस गांव में निवास ही नहीं करते हैं। वह व्यक्ति झूठ बोलकर गांव की बदनामी कर रहा है। व्यक्ति के खिलाफ कठोर कार्यवाही होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *