मंदसौर अय्याशी ने बनाया अपराधी: युवती के घर रोज आया करता था, नकली चाबियां बनाकर कर ली चोरी

0
22

 

मंदसौर में एक अजीब घटना सामने आई है जिसमें पुलिस ने चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से चोरी किए गए पैसे और जेवरात भी जप्त कर लिए हैं। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि सभी आरोपियों की उम्र 20 साल से कम ही है। पुलिस ने यह भी बताया कि चोरी करने वाले सभी दोस्त ही थे। पुलिस द्वारा जब आरोपियों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि इसके पीछे उनका कोई मुख्य कारण नहीं था और आरोपियों ने सिर्फ मौज मस्ती करने के लिए ही चोरी की वारदात को अंजाम दिया था।

आरोपियों ने बाजार से बनवाई थी नकली चाबी

आरोपियों ने आभूषण चोरी करने के लिए मंदसौर के बाजार में से ही नकली चाबी बनवा ली थी। सिटी कोतवाली टीआई अमित सोनी ने बताया कि मंदसौर के घडि़याला दरवाजा किला रोड स्थित सुरेखा पति मनोहर लाल सोनी उम्र 40 वर्ष ने थाने पर रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि उसके घर में बदमाशों ने आकर अलमारी में पड़े 5 लाख 45 हजार रुपए के जेवरात नकली चाबी बनवा कर उड़ा ले गए। शिकायत दर्ज करने आए व्यक्ति ने तीन आरोपियों पर शंका भी जताई थी। इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी थी। आरोपी नकली चाबी बनवा कर सारे सोने चांदी के जेवरात चोरी कर गए थे।

चोरी करने वाला पड़ोसी ही था

पूछताछ के दौरान जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि चोरी करने वाला सुरेखा सोनी के 12 साल के बेटे का पड़ोस में रहने वाला दोस्त ही था। सुरेखा सोनी के बेटे का दोस्त होने के कारण उसका घर में आना जाना लगा रहता था लेकिन अभी तक उन्होंने उस पर इस प्रकार की शंका कभी नहीं की थी। उसने इसी का फायदा उठाया और बाजार से नकली चाबी बनवा कर अपने तीनों दोस्तों की मदद से घर में आकर सारे पैसे और सोने चांदी के जेवरात उठा ले गया। चोरी होने के 2 दिन बाद पता चला कि अलमारी में से सारे नगदी और जेवरात गायब हो गए हैं।

आरोपियों को पुलिस ने कैसे पकड़ा

शंका के आधार पर पुलिस ने बताए गए राजेश पुत्र शिव गिरी गोस्वामी, दानिश पुत्र अय्युब खिलजी, सुमित पुत्र जीवन दास बैरागी, लालबाई फूलबाई मंदिर मंदसौर पवन पुत्र पंकज चौहान निवासी सितला माता मंदिर को गिरफ्तार किया और पूछताछ की। पुलिस द्वारा जब सख्ती से पूछताछ की गई तो आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ करके सभी जेवरात भी जब्त कर लिए हैं। इनकी कीमत करीब 5 लाख 45 हजार रुपए हैं। आरोपी ने चोरी किए हुए पैसों से जयपुर की सैर कर ली। जब पैसे खत्म हो गए तो घर लौट आए और पुलिस ने उन्हें तुरंत गिरफ्तार कर लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here