भ्रष्टाचार: 25 साल की नौकरी में कमा लिए 40 लाख रुपए , 10 करोड़ की संपत्ति भी बना ली

0
23

 

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भष्टाचार को रोकने के लिए बहुत प्रयास कर लिए लेकिन इसमें अभी तक सफल नहीं हो पाए हैं।रोजाना छापा मारने पर कई अधिकारियों का काला धन सामने आ रहा है। टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के देवास में पदस्थ मान चित्रकार विजय दरियानी के इंदौर स्थित मकान व अन्य ठिकानों पर ईओडब्ल्यू और उज्जैन की 5 टीमों ने छापामारी की। प्राथमिक जांच में आशीष नगर में एक मकान, माउंट बर्ग कॉलोनी में 6000 वर्ग फीट का फार्म हाउस, साकेत नगर में फ्लेट और कनाडिया रोड़ पर दुकान मिली।

घर की आलमारी से 19 लाख रुपए एवं डेढ़ लाख की ज्वेलरी मिली

जब मानचित्र कार के घर में छापा मारा गया तो अलमारी से ₹1900000 नगद एवं लगभग डेढ़ लाख से अधिक की ज्वेलरी मिली। इसके साथ घर पर दो कारें भी मिली। इस तरह से कुल लगभग 10 करोड रुपए की संपत्ति मिली है। जबकि प्राथमिक जांच में पता चला कि उसने 25 साल की ही नौकरी की है। सर्वप्रथम वेतन की शुरुआत मात्र ₹500 से शुरू हुई थी। अभी ₹50000 प्रतिमाह मिलते हैं। अब तक 40 लाख रुपए की आय अनुमानित है।

ढ़ाई करोड़ का तीन मंजिला मकान भी है

इतना ही नहीं बल्कि छापा मारने पर यह भी पता चला है कि मानचित्र कार विजय दरियानी के ढ़ाई करोड़ का 3 मंजिला मकान भी है। आशीष नगर में उसने दो प्लाट को जोड़कर ढाई करोड़ की लागत में तीन मंजिला मकान बनाया था। इस घर की साइज करीब ढाई हजार वर्ग फीट है।विजय का एक बेटा एमबीए कर रहा है और एक की मोबाइल की दुकान है। दोनों बेटे अभी हीं विदेश की यात्रा करके घर लौटे हैं। उनके घर में गमलों की लाइन लगी थी जिनमें कुछ गमलों की कीमत ₹50000 थी। यह सभी जानकारी नगर निगम को लेकर कार्यवाही के लिए कहा जाएगा। ऐसे बहुत से सरकारी कर्मचारी आज भी काला धन जमा कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here