मंदसौर का तांत्रिक बाबा लूट गया 80000 रूपए के जेवर 

मंदसौर की एक महिला ने अपनी बच्ची का इलाज कराने के लिए एक तांत्रिक के झांसे में आकर 80 हजार के जेवर लुटा दिए। मंदसौर के मस्जिद चौक मदारपुरा में रहने वाली एक महिला ने तांत्रिक के झांसे में आकर 80 हजार रूपए लुटा दिए और तांत्रिक फरार हो गया। महिला ने मामला पुलिस को बताया। पुलिस ने तांत्रिक बाबा के खिलाफ मामला दर्ज किया है और उनकी तलाश करना शुरू कर दी है। थाना सिटी कोतवाली टीआई ने जानकारी देते हुए बताया कि मंदसौर के मदारपुरा क्षेत्र में रहने वाली महिला फरीदा मंसूरी की बेटी बीमार रहती थी। अलग-अलग डॉक्टरों के पास फरीदा ने अपनी बेटी का इलाज करवाया लेकिन उसे कोई असर नहीं दिख रहा था।

किसी ने फरीदा को बालागंज में रहने वाले तांत्रिक के बारे में बताया

फरीदा सभी से बेटी के लिए इलाज का तरीका पूछती रहती थी। 1 दिन किसी ने फरीदा को बालागंज में रहने वाले तांत्रिक के बारे में बताया और फरीदा अपनी बेटी को लेकर तांत्रिक के पास चली गई। फरीदा अपने बेटी की बीमारी को सही करने के लिए तांत्रिक बाबा फतेह कामरान के पास गई थी। फरीदा ने तांत्रिक को अपनी समस्या बताएं और उसके बाद तांत्रिक ने मंत्र जप कर फरीदा की बेटी पर बुरी नजर का साया बताया। इसके बाद तांत्रिक ने फरीदा की बेटी के लिए ताबीज बनाने की बोला और कुछ तंत्र क्रिया विधि बताइए जिसे रोजाना करना पड़ता था।

फरीदा ने इसके बदले तांत्रिक को अपने 80000 के जेवर लुटा दिए

फरीदा को तांत्रिक पर भरोसा हो गया और खुद को जादुई तांत्रिक बोलने वाला बाबा फतेह कामरान ने फरीदा को झांसा देते हुए उसके लिए कुछ तांत्रिक क्रिया करने की बोला। फरीदा तांत्रिक क्रियाओं के लिए तैयार हो गई।तांत्रिक ने फरीदा से कहा कि मंत्र प्रक्रिया के लिए जेवर की आवश्यकता होगी और फरीदा ने अपने सारे जेवर खोलकर तांत्रिक को दे दिए। तांत्रिक ने फरीदा से कहा कि जेवर पर मंत्र क्रिया करके बच्ची को पहनाए जाएंगे जिससे इस पर लगी हुई बुरी नजर भाग जाएगी। तांत्रिक पर भरोसा कर फरीदा ने अपने सारे जेवर बाबा को दे दिए और अगले दिन आने की कहा। जब अगले दिन फरीदा बच्ची को लेकर तांत्रिक बाबा के स्थान पर पहुंची तो वहां पर कोई नहीं था। सभी जगह ढूंढने के बाद भी तांत्रिक बाबा का पता नहीं चला तो महिला ने पुलिस को शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस बाबा की तलाश कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *