बदली रणनीति: चीन को अब मुंह तोड़ जवाब देगा भारत, चीन सीमा पर की 50 हजार अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती, चीन की हर हरकत पर है नजर

 

चीन की ओर से सीमा पर लगातार उकसावे की कार्यवाही के बाद भारत ने भी ड्रैगन को मुंहतोड़ जवाब देने की ठान ली है। पहले भारत चीन को सिर्फ रोकता था लेकिन अब भारत ने चीन को रोकने की बजाय आक्रामक जवाब देने की रणनीति बनाई है। इसी रणनीति को ध्यान में रखते हुए भारत में सीमा पर 50000 अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती कर दी है। ब्लूमबर्ग ने अपनी रिपोर्ट में चीन से मुकाबले के लिए भारत के इस कदम को ऐतिहासिक बताया है। इस तरह अब भारत ने चीन की सीमा पर नजर रखने के लिए करीब दो लाख सैनिकों को तैनात कर दिया है, जो पिछले साल के मुकाबले 40 फ़ीसदी ज्यादा है।

पिछले वर्ष 15 जून को हुई थी चीन और भारत के बीच झड़प

पिछले वर्ष 15 जून को लद्दाख के पास गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच हिंसक झड़प हो गई थी तभी से सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है। इसके बाद अब यह फैसला भारत की रणनीति में अहम बदलाव का संकेत है। जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान की सीमा से सैनिकों को शिफ्ट किया जा रहा है और चीन की उस सीमा पर लाया जा रहा है जहां पर पिछले वर्ष भारत और चीन के बीच कई लड़ाइयां हुई। भारत ने पहले सीमा पर चीनी अतिक्रमण रोकने के लिए सैनिक तैनात कर रखे थे, पर अब दलबल में भारी वृद्धि करके जवाबी हमला और चीन में प्रवेश करने की क्षमता कर ली है। सूत्रों के मुताबिक लग रहा है कि अब भारत चीन को आक्रामक जवाब देने से नहीं रुकेगा।

तोफो को रोकने के लिए हेलीकॉप्टर तैनात किए गए हैं

सीमा पर सैनिकों के अलावा भारी तोपों को ले जाने के लिए हेलीकॉप्टर भी तैनात किए गए हैं। चीन ने भी भारत से लगे सीमांत इलाकों में इंफ्रास्ट्रक्चर का तेजी से विकास किया है। चीन भी भारत से लड़ाई की तैयारी कर रहा है और भारत भी इधर तेजी से तैयार हो रहा है। एलएसी पर टकराव को लेकर भारत चीन सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर वार्ता कर रहे हैं। 25 जून को हुई बैठक में फैसला लिया गया कि जल्द ही सैन्य स्तर की 12वें दौर की वार्ता की जाएगी। तत्कालिक दौर पर दोनों पक्ष इस बात के लिए सहमत है कि ऐसी पर यथास्थिति बनाए रखी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *