मंदसौर जिले में जाने के लिए जो मुख्य रास्ता है वह पिछले 2 साल से बहुत खराब हो रखा है। जिसकी अभी तक पूर्ण रूप से समस्या हल नहीं हुई है लेकिन इस बार मध्यप्रदेश शासन ने बजट में मंदसौर में मुख्य मार्ग के लिए ₹100000000 का प्रस्ताव सामने रखा है। शहर के बीच से गुजर रहा हाईवे 2019 के दौरान बाढ़ के कारण जर्जर हो गया था। डेढ़ साल से मंडी व्यापारी ,मेघदूत नगर और गांधीनगर के लोग निर्माण की मांग कर रहे हैं लेकिन अभी तक उसकी समस्या हल नहीं हुई है। हालांकि थोड़े थोड़े दिनों में सड़क पर गड्ढे भर दिए जाते हैं।

लोगों ने सड़कों पर धरना भी दिया

जब लोगों द्वारा मांग की गई और सही समय से समस्या का समाधान नहीं हुआ तो लोगों ने इसके लिए सड़कों पर धरना प्रदर्शन भी किया। लेकिन अब पीडब्ल्यूडी ने बीपीएल से बाईपास तक दोनों तरफ सीसी रोड बनाने के लिए 26 करोड़ का प्रस्ताव भेजा है।बजट में ₹101100000 मिले हैं। इससे अब एसपी कार्यालय के आगे पेट्रोल पंप से गुराडिया बालाजी तक सीमेंट कंकरीट रोड का निर्माण होगा। पीडब्ल्यूडी के कार्यालय मंत्री आदित्य सोनी ने बताया कि प्रशासकीय स्वीकृति आते ही तीसरे दिन टेंडर लगा देंगे। मई के अंत तक काम शुरू किया जा सकता है।

रोज 50000 लोगों को मिलेगा लाभ

सड़क बनने के कारण कई लोगों को लाभ मिलेगा क्योंकि वह सड़क मंदसौर में मुख्य मार्ग है जिससे प्रतिदिन 300 से अधिक बसों में हजारों लोग सफर करते हैं। कृषि उपज मंडी में रोज 25 से 30,000 हजार किसान पहुंचते हैं लेकिन अब इनको परेशान नहीं होना पड़ेगा। यहां मार्ग 3 साल में खराब हो जाता था लेकिन अब यह काफी लंबे समय तक टिकेगा।उस रास्ते में आने वाली सभी कालोनियों में रहने वाले लोगों को भी काफी फायदा मिलने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *