मंदसौर में सवारी बिठाने को लेकर हुई जमकर पिटाई राॅयल बस मालिक ने एकता बस के कंडक्टर की जमकर की पिटाई ।

0
8

 मंदसौर कोतवाली थाना क्षेत्र के पुराने बस स्टैंड पर सवारी बिठाने को लेकर बस कंडक्टर व रॉयल बस के मालिक के बीच विवाद हो गया जिसके बाद रॉयल बस के मालिक द्वारा एकता बस के कंडक्टर के साथ मारपीट की गई जिसमें घायल कंडक्टर को जिला अस्पताल ले जाया गया । 

घायल कंडक्टर कहना है कि उसके साथ बस के मालिक, ड्राइवर, और कंडक्टर ने मारपीट करिए जिसमें कठोर कार्रवाई होनी चाहिए । मामला यह है कि एक इंदौर की सवारी बिठाने को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हो गया । रॉयल बस रतलाम तक जाती है और उसमें इंदौर तक की बोलकर सवारी बिठा ली जाती है । जिससे कि एकता बस के कंडक्टर ने कहा कि यह बस इंदौर जा रही है और तह बस आपको आगे दुसरी बस में शिफ्ट कर देगी तो आप इसमें बैठ जाइए जिसके बाद बस के मालिक व कंडक्टर के बीच झगड़ा शुरू हो गया । 


मंदसौर शहर में कई ऐसी बसें चल रही है जिसमें सवारीयों को झूठ बोलकर बिठा दिया जाता है । इससे विवाद की स्थिति बनती है और आज भी वही स्थिति बनी है । जिसमें एकता बस के कंडक्टर के साथ राॅयल बस के सेठ ने जमकर मारपीट करी है । रॉयल बस के सेठ का कहना है कि पहले बेटे के साथ गाली-गलौज व मारपीट की गई थी । जिससे कि या मारपीट की गई है । 



आइए जानते हैं घायल कंडक्टर ने क्या कहा ।

घायल कंडक्टर सुनील पवार ने कहा कि सवारी को लेकर रॉयल बस के सेट ने मुझे मारा है । उनकी बस रतलाम से मंदसौर तक ही चलती है और सवारी इंदौर की थी तो हमने कहा कि सवारी को इस बस में बिठा दो  तो उन्होंने कहा कि नहीं इसे तो हम ही बिठा के ले जाएंगे ।  बस चालक फिरोज का भी कहना है की सवारी को लेकर मारपीट की गई है । ड्राइवर ताज महोम्मद का कहना है कि यह घटना यहीं पर खत्म नहीं हो ती  नीमच बस स्टैंड से भी सवारी जो मंदसौर के अंदर कोठारी बस है ,मीनाक्षी बस है , एकता बस है जो भी बस से रतलाम के रूट में चलती है । इंदौर का नाम लेकर नीमच से मंदसौर तक आ जाते हैं और फिर अगर मीनाक्षी वाले ने एकता को सवारी दी तो एकता वाला आगे मीनाक्षी वाले को ही सवारी देगा ऐसा कांटेक्ट लगा रहता है जिससे कि जो गाड़ियां पहले जाती हैं उनमें सवारी नहीं आती है और उन्हें बस ड्राइवर व कंडक्टर द्वारा रोक दिया जाता है क्योंकि अगर सवारी को कहीं जल्दी जाना हो तो वह पीछे रह जाता है जिससे उसका समय भी खराब होता है और आगे वह जल्दी नहीं पहुंच पाता है  । 


रॉयल बस के मालिक ने क्या कहा 


वहीं रॉयल बस के मालिक अकील कुरैशी का कहना है कि सड़क सुरक्षा समिति के अंदर  तय किया गया है  कोई भी बस अपने निर्धारित समय से आधा घंटा पूर्वक अपने स्थान पर लगेगी । जिससे कि यह बस का ड्राइवर हमेशा 2 घंटे पहले ही बस लगा देता है । तो हमारे बालक ने जाकर उससे कहा कि अभी तो 9:30 बजा है तो तुम 2 घंटे बाद जाओगे तो इतने पहले गाड़ी क्यों लगाई आधे घंटे पहले लगा तो उसके साथ बदतमीजी करी गाली -गलौज करके उसे चाटा मार दिया गया जिससे कि इस बात को लेकर दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया और फिर कंडक्टर के साथ मारपीट की गई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here