किसान को जब खेत में जाने के लिए रास्ता नहीं दिया तो किसान ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर हेलीकॉप्टर के लिए लाइसेंस और लोन देने की करी मांग ।

0
6

 किसान ने महामहिम राष्ट्रपति को एक पत्र लिखा और कहा कि अब मुझे कृषि भूमि पर आवागमन हेतु हेलीकॉप्टर के लिए लोन एवं लाइसेंस उपलब्ध कराए जाएं । क्योंकि मेरे पास इसके अलावा कोई और विकल्प नहीं बचा है ।


यह खबर मंदसौर जिले के शामगढ़ के गांव आगर व बोरखेड़ी रेड़का की है । जहा पर एक किसान ने दूसरे किसान की जमीन कब्जे में लेकर आवागमन का मार्ग बंद कर दिया तो किसान ने कहां कि मुझे आवाजाही के कारण काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है इसको लेकर किसान ने महामहिम राष्ट्रपति को एक पत्र लिखा ।


इस पत्र में किसान बसंती बाई पति रामकरण लोहार ने जमीन के विवाद को लेकर  महामहिम राष्ट्रपति से गुजारिश की  की परमानंद पिता बालाराम जी पाटीदार एवं लव कुश पिता परमानंद जी पाटीदार जो गांव आगर के निवासी है उनके द्वारा जबरन दादागिरी करके हल्का नंबर 04 , भूमि सर्वे नंबर 594/1 ओर रकबा 0.41 हेक्टेयर है । जहां पर रास्ता बंद करने के कारण कृषि में आवाजाही का मार्ग दुर्गम हो गया है जिस कारण कृषि में उपयोग होने वाले सभी यंत्र खेती में नहीं जा पा रहे जिससे बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है । साथ ही आवेदन कर्ता ने कहा कि मंदसौर से लेकर भोपाल तक कई आवेदन दिए लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकला है एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान सहित देश के प्रधानमंत्री को इस घटना से अवगत कराया है लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकला है । ओर मेरे पास हेलीकॉप्टर के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा है ।



इसीलिए महामहिम को पत्र लिखकर महामहिम से निवेदन है कि  कृषि कार्य एवं कृषि संसाधनों को भूमि पर आवागमन हेतु हेलीकॉप्टर का लाइसेंस उपलब्ध कराया जाए एवं उसके लिए बैंक से ऋण उपलब्ध कराया जाए क्योंकि अब मुझे खेत पर जाने के लिए हेलीकॉप्टर के अलावा कोई साधन नहीं दिखाई दे रहा है । 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here